बेल्जियम में 45 जिहादियों को सज़ा

शरिया फॉर बेल्जियम प्रवक्ता इमेज कॉपीरइट AFP

बेल्जियम में एक ऐसे चरमपंथी गुट के नेता को 12 साल क़ैद की सज़ा सुनाई गई है, जिसने सीरिया में जिहादी भेजे थे.

बेल्जियम में ये अपनी तरह का सबसे बड़ा मुक़दमा है.

अदालत ने 'शरिया4बेल्जियम' समूह के कुल 45 सदस्यों को चरमपंथ से जुड़े मामलों में दोषी पाया.

जज ने इस संगठन को ‘एक आतंकी संगठन’ कहा और समूह के नेता फुवाद बेलक़सीम को जेल भेज दिया.

संगठन के अन्य 44 सदस्यों को तीन साल से लेकर 15 साल तक की सज़ा दी गई. इनमें से कुछ को निलंबित सज़ा दी गई है.

सीरिया से लौटे

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption सुनवाई के दौरान सिर्फ़ सात अभियुक्त मौजूद थे

अभियोजकों ने कहा कि इस समूह ने भर्ती किए गए लोगों को इस्लामिक स्टेट जैसे चरमपंथी संगठनों की मदद के लिए भेजा था.

सुनवाई के दौरान अदालत में केवल सात अभियुक्त ही मौजूद थे. सज़ा पाए लोगों में अधिकांश लोग अब भी सीरिया में बताए जाते हैं, जबकि इनमें से कुछ की मौत हो चुकी है.

इनमें से एक हाईप्रोफ़ाइल सदस्य जेजोइन बोंतिंक को 40 महीने की निलंबित सज़ा मिली है.

इमेज कॉपीरइट Other

अधिकारियों का कहना है कि सीरिया और इराक़ में लड़ाई के लिए बेल्जियम से 350 लोग गए हैं.

यह संख्या यूरोप में किसी भी देश के मुक़ाबले अधिक है.

यूरोपीय सुरक्षा एजेंसियों को डर है कि वापस लौटने वाले जिहादी घरेलू लक्ष्यों को निशना बना सकते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार