पूर्वी यूक्रेन में संघर्ष विराम की घोषणा

  • 12 फरवरी 2015
व्लादिमिर पुतिन, पोरेशेंको इमेज कॉपीरइट AFP

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने कहा है कि पूर्वी यूक्रेन में 15 फ़रवरी से संघर्ष विराम लागू हो जाएगा.

गुरुवार को बेलारूस में चली लंबी वार्ता के बाद रूस, जर्मनी, फ़्रांस और यूक्रेन के नेताओं ने यह ऐलान किया.

पुतिन ने कहा, "हम मुख्य मुद्दों पर सहमत हो गए हैं."

इस समझौते में अग्रिम पंक्ति से भारी हथियारों का हटाया जाना शामिल है, लेकिन कुछ मुद्दों पर सहमति बनना अभी बाकी है.

पूर्वी यूक्रेन में रूस समर्थक विद्रोहियों ने समझौते पर हस्ताक्षर कर दिए हैं. इस क्षेत्र में क़रीब एक साल से चल रहे संघर्ष में हज़ारों लोग मारे जा चुके हैं.

समझौते के बिंदु

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption समझौत में अग्रिम पंक्ति से भारी हथियार हटाए जाने की बात शामिल है.

बेलारूस की राजधानी मिंस्क में 17 घंटे तक चली लंबी बैठक में जिन मुद्दों पर समझौता हुआ, उनमें 15 फ़रवरी की आधी रात से संघर्ष विराम, भारी हथियार हटाया जाना और सभी कैदियों को रिहा किया जाना शामिल है.

यूक्रेन के राष्ट्रपति पोरशेंको ने कहा कि यूक्रेन इस साल के अंत तक अंतरराष्ट्रीय सीमा पर नियंत्रण अपने हाथ में ले लेगा.

फ्रांसीसी राष्ट्रपति फ्रांसुआ ओलांदे ने कहा कि वो और जर्मनी की चांसलर एंगेला मर्केल यूरोपीय संघ के अपने सहयोगियों को गुरुवार शाम होने वाले एक सम्मेलन में इस समझौते का समर्थन करने को कहेंगे.

मर्केल ने कहा कि हालांकि बड़ी बाधाएं अब भी क़ायम हैं, लेकिन अब 'उम्मीद की एक किरण' नज़र आने लगी है.

समझौते का स्वागत

इमेज कॉपीरइट Getty

पुतिन ने रूसी टीवी को कहा, "यह मेरी ज़िंदगी की सबसे अच्छी रात तो नहीं थी, लेकिन यह एक अच्छी सुबह है."

लुहांस्क इलाक़े में अलगाववादी नेता इगोर प्लोतनित्स्की ने समझौते का स्वागत किया है.

उन्होंने कहा, "हमें उम्मीद है कि हमारी कोशिशों के चलते यूक्रेन अब बदलेगा और आम नागरिकों, अस्पतालों और समाज के लिए महत्वपूर्ण सुविधाओं पर हमला नहीं करेगा."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार