'दुनिया का सबसे ऊंचा त्रिशूल' नेपाल में

  • 12 फरवरी 2015
नेपाल त्रिशूल

पश्चिमी नेपाल के डांग ज़िले में गुरुवार को आठ हज़ार किलो वज़नी एक त्रिशूल स्थापित किया गया है.

त्रिशूल हिंदुओं के भगवान शिव का हथियार माना जाता है.

पांडवेश्वर मंदिर में आयोजित कार्यक्रम के आयोजकों का दावा है कि यह दुनिया का अपनी तरह की सबसे बड़ी सरंचना है.

आयोजकों के अनुसार, इससे पहले 2,700 किलो का एक त्रिशूल भारत के उत्तराखंड राज्य के पिथौरागढ़ ज़िले में स्थापित किया गया था.

त्रिशूल स्थापना के इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए सैकड़ों की संख्या में स्थानीय लोग एकत्र हुए थे.

पर्यटन को बढ़ावा

यह त्रिशूल पांच धातुओं से बनाया गया है- तांबा, सोना, चांदी, लोहा और कांसा.

इसे एक क्रेन की मदद से सीधा खड़ा किया गया.

स्थानीय निवासियों को उम्मीद है कि अगले हफ़्ते पड़ने वाले शिवरात्रि त्यौहार से पहले 'दुनिया के सबसे ऊंचे त्रिशूल' की स्थापना से इलाक़े में धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार