तालिबानः शिया मस्जिद पर हमला हमने किया

तालिबान इमेज कॉपीरइट EPA

पाकिस्तान के पेशावर शहर में शुक्रवार को एक शिया मस्जिद बाहर हुए हमले की पाकिस्तानी तालिबान ने ज़िम्मेदारी ली है.

इस बम धमाके में 19 लोग मारे गए हैं और दर्जनों लोग घायल हुए हैं.

धमाके के पहले, तीन चरमपंथियों ने हायताबाद मस्जिद में घुसकर लोगों की भीड़ पर अंधाधुंध गोली चलानी शुरू कर दी और ग्रेनेड फेंके.

पाकिस्तान तालिबान

इमेज कॉपीरइट Getty

अधिकारियों का कहना है कि इनमें से एक चरमपंथी ने अपने आप को विस्फोट कर उड़ा लिया, दूसरा चरमपंथी गोलीबारी में मारा गया और तीसरे चरमपंथी को पकड़ लिया गया है.

पाकिस्तानी तालिबान ने इस हमले की ज़िम्मेदारी लेते हुए कहा है कि उनके संगठन के एक सदस्य को फांसी चढ़ाए जाने का बदला लेने के लिए तालिबान लड़ाकों ने इस हमले को अंजाम दिया है.

हमले

इमेज कॉपीरइट AFP

पुलिस प्रमुख मियां सईद ने कहा कि चरमपंथी आत्मघाती जैकेट पहन कर मस्जिद में घुसे थे, लेकिन उनमें से केवल ही विस्फोट करने में क़ामयाब हो पाया.

दो सप्ताह पहले सिंध प्रांत के शिकारपुर ज़िले में भी एक शिया मस्जिद पर हमला हुआ था जिसमें 60 से ज़्यादा लोग मारे गए थे. तालिबान से जुड़े सुन्नी चरमपंथियों ने इसकी ज़िम्मेदारी ली थी.

पिछले साल दिसंबर में पेशावर के एक स्कूल में हुए चरमपंथी हमले में 140 से ज़्यादा लोग मारे गए थे और इसकी ज़िम्मेदारी पाकिस्तानी तालिबान ने ली थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार