आईएस से मुठभेड़ के लिए इराक़-कुर्दिश सेना

  • 20 फरवरी 2015
iraqis protesting-ap इमेज कॉपीरइट AP
Image caption मोसुल पर आईएस ने पिछले जून में कब्ज़ा कर लिया था

एक अमरीकी अधिकारी के मुताबिक इराक़ में मोसुल शहर को आईएस के शिकंजे से छुड़ाने के लिए इराक़ और कुर्द मिल कर 25,000 जवानों की सेना तैयार कर रहे हैं.

एक वरिष्ठ सेना अधिकारी का कहना है कि आईएस के ख़िलाफ़ ये कारवाई अप्रैल या मई में शुरू की जाएगी.

पिछले साल जून में इराक़ के सबसे बड़े शहर मोसुल पर आईएस ने कब्ज़ा जमा लिया था. फ़िलहाल मोसुल पर लगभग दो हज़ार आईएस चरमपंथियों का दबदबा है.

अमरीका देगा प्रशिक्षण

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption अमरीकी मदद से इराकी सेना अपने इलाकों को फिर हासिल करने की कोशिश कर रही है

अधिकारियों ने बताया कि सभी जवानों को अमरीका प्रशिक्षण देगा. और सेना की कार्यवाही को मई तक हो जाना चाहिए वरना तेज़ गर्मी से इस कार्यवाही पर असर पड़ सकता है.

अगर सैन्य प्रशिक्षण उस समय तक पूरा नहीं होता है तो इस कार्यवाही में देरी हो सकती है. वॉशिंगटन में बीबीसी के संवाददाता के मुताबिक हमले का वक्त कुछ अटपटा है लेकिन अमरीका का कहना है कि आईएस अब पीछे हट रहा है और इराक़ में अमरीका का प्रशिक्षण अब कुछ ठोस नतीजे ला रहा है.

पीछे हट रहा है आईएस

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption अब आईएस पीछे हट रहा है

कुछ दिन पहले एक इंटरव्यू में इराक़ के प्रधानमंत्री हैदर अल आब्दी ने भी सैन्य कारवाई की योजना की पुष्टि की.

उन्होंने माना कि अमरीका के नेतृत्व में आईएस के ख़िलाफ़ इराक़ की सैन्य कारवाई बेहतर हुई है.

उधर सउदी अरब में बीस देशों के प्रतिनिधियों ने इराक़ की सेना को और मज़बूत बनाने पर चर्चा की.

मानवाघिकार संगठन सीरियन ऑब्ज़रवेटरी फ़ॉर ह्यूमन राइट्स का कहना था कि अमरीकी नेतृत्व में आईएस के ख़िलाफ़ सीरिया के हवाई हमले काफ़ी कारगर साबित हुए और राका प्रांत के 19 गांवों को आईएस के चंगुल से छुड़ाया जा सका.

कुर्दिश लड़ाकू भी धीरे धीरे आईएस के कब्ज़े वाले 35 किलोमीटर क्षेत्र में घुसने और इस इलाके पर काबू पाने में सफल रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार