सीरिया से 90 ईसाई अगवा

सीरिया, लंदन इमेज कॉपीरइट Reuters

इस्लामिक स्टेट के चरमपंथियों ने बड़ी संख्या में सीरिया के ईसाइयों को अगवा कर लिया है.

सीरिया में मानवाधिकारों पर निगरानी रखने वाले संगठन के मुताबिक कम से कम 90 लोगों को पूर्वी सीरिया के ताल ताम्र शहर से अगवा किया गया है.

बंधक बनाए गए लोगों में एक बड़ी संख्या महिलाओं और बच्चों की है. आईएस के चरमपंथियों ने तड़के सुबह से ही छापे मार कर लोगों को बंधक बनाना शुरू कर दिया.

आगे बढ़े कुर्द

इमेज कॉपीरइट BULENT KILIC AFP

अगवा किए गए ज़्यादातर असीरियाई ईसाई हैं. कुछ लोग भागने में कामयाब रहे और पूर्व में कुर्द नियंत्रण वाले शहर हसाकेह तक पहुंच गए.

इस बीच सीरियाई कुर्द लड़ाके अमरीकी हवाई हमलों की मदद के साथ आईएस के नियंत्रण वाले इलाक़ों में अपनी बढ़त बना रहे हैं.

हसाकेह रणनीतिक रूप से अहम है क्योंकि इसकी सीमा तुर्की के साथ ही इराक़ के उन इलाक़ों से भी लगती है जो कुर्दों के नियंत्रण में हैं.

सीरिया पहुंची लड़कियां

इमेज कॉपीरइट MET POLICE

ब्रिटेन की पुलिस का कहना है कि आईएस में शामिल होने के लिए गई तीनों लड़कियों के सीरिया में पहुंच जाने की आशंका है.

समझा जाता है कि लंदन की इन स्कूली लड़कियां को तुर्की के रास्ते चार-पांच दिन पहले सीरिया लाया गया है.

सूत्रों ने आशंका जताई है कि ये लड़कियां किलीस सीमा के जरिए सीरिया में घुसी हैं.

लंदन से सीरिया

बेथनाल ग्रीन एकेडमी की छात्राएँ शमीमा बेगम, अमीरा अबासे और कदीज़ा सुल्ताना 17 फरवरी को इस्तांबुल के लिए रवाना हुई थीं.

शमीमा और अमीरा की उम्र 15 साल है जबकी कदीज़ा की उम्र 16 साल. इन्होंने अपने घरवालों से कहा था कि वो एक दिन के लिए बाहर जा रही हैं.

मेट्रोपॉलिटन पुलिस ने कहा है कि उनके पास,’’ये मानने की वजह कि वे अब तुर्की में नहीं हैं और सीरिया चली गई हैं. अधिकारी तुर्क प्राधिकारियों के साथ इस जांच पर नज़र रखे हुए हैं.’’

सीरिया में मौजूद सूत्रों की राय है कि ये लड़कियां मानव तस्करों के साथ सीमा पार कर गई हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार