चीन: नए साल पर 'लकी मनी' की धूम

चीनी नववर्ष इमेज कॉपीरइट BBC World Service

चीनी नववर्ष पर वहां क़रीब 10 करोड़ से ज़्यादा लोगों ने ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा के मोबाइल एप्लिकेशन 'अलीपे' के ज़रिए अपने प्रियजनों को 'लकी मनी' यानी उपहार में पैसा भेजा है.

कंपनी के मुताबिक़ पिछले बुधवार से अभी तक अलीपे के ज़रिए लगभग 65 करोड़ 20 लाख डॉलर यानी क़रीब 40 अरब 45 करोड़ रुपए का लेनदेन हुआ है.

पुरानी परंपरा, नया तरीक़ा

इमेज कॉपीरइट Reuters

चीन में चंद्र नववर्ष के मौक़े पर अपने प्रियजनों, खासकर बच्चों और अविवाहित लोगों को 'भाग्यशाली पैसे' भरे लाल लिफ़ाफ़े 'होंगबाओ' देने की परंपरा क़रीब एक हज़ार साल पुरानी है.

यह परंपरा भुनाने के लिए अलीबाबा के अलावा टेंसेंट, सिना और बाइदु जैसी कई इंटरनेट कंपनियों ने भी इलेक्ट्रॉनिक रूप से लाल लिफ़ाफ़े भेजने के लिए खास एप्लीकेशन बनाया है, जिससे अपने बैंक खाते, क्रेडिट या डेबिट कार्ड को जोड़कर 'लकी मनी' भेजा जा सकता है.

'ई-होंगबाओ

मगर हाल के दिनों में लाल लिफ़ाफ़े की जगह इलेक्ट्रॉनिक रूप से उपहार के पैसे 'ई-होंगबाओ' देने का चलन काफ़ी बढ़ता जा रहा है.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

पुरानी परंपरा के मुताबिक़ घर के बड़े-बुजुर्ग बच्चों को पैसे देते हैं, लेकिन अलीपे के आकड़ों के अनुसार 'ई-होंगबाओ' भेजने वालों में आधे से अधिक शंघाई, बीजिंग और गुआंगज़ौ जैसे शहरों में रहने वाले 20 वर्ष से कम के लोग थे.

इन्होंने अपने मोबाइल की संपर्क सूची में दर्ज़ रिश्तेदारों और दोस्तों के नाम 'लकी मनी' भेजा है.

हालांकि इनमें से ज़्यादातर ने एक युआन (लगभग 10 रुपए) मूल्य के 'ई-होंगबाओ' का इस्तेमाल सबसे अधिक किया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार