आईएस में शामिल होने जा रहीं स्कूली छात्राएं

  • 1 मार्च 2015
सीरिया छात्राएं इमेज कॉपीरइट MET POLICE

एक सीसीटीवी फ़ुटेज में सामने आया है कि ब्रिटेन की तीन स्कूली छात्राएं सीरिया के आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट में शामिल होने के लिए सीरिया जा रहीं हैं.

सीसीटीवी फ़ुटेज में तीनों लड़कियों को इस्तांबुल बस स्टेशन पर देखा गया.

15 साल की शमीमा बेगम और अमीरा अब्बासी और 16 साल की कदीज़ा सुलताना ने इस्तांबुल जाने के लिए 17 फ़रवरी को लंदन से उड़ान भरी थी.

फ़ुटेज में दिखाया गया है कि उसी दिन उन्हें बेरामपासा बस स्टेशन पर इंतज़ार करते हुए भी देखा गया.

माना जा रहा है कि लड़कियों ने बस स्टेशन पर क़रीब 18 घंटे तक इंतज़ार किया.

ब्रिटेन की पुलिस स्कॉटलैंड यार्ड का मानना है कि बेथनल ग्रीन अकेडमी स्कूल की ये छात्राएं अब सीरिया में ही हैं.

सीसीटीवी की ये पांच फ़ुटेज 17 और 18 फ़रवरी की हैं.

घर आने की अपील

सूत्रों के अनुसार पांच छह दिन पहले ये लड़िकयां, कीलीस बॉर्डर के पास सीरिया में प्रवेश कर चुकीं हैं.

Image caption कडीजा सुलताना

दक्षिण पूर्वी तुर्की के गेज़ियांटेप से बीबीसी के संवादाता जेम्स रेनॉल्ड्स को (ख़ुद लोगों का तस्कर कहने वाले) एक आदमी ने बताया कि लड़कियों को सीरिया बॉर्डर पर छोड़ दिया गया है.

उस तस्कर के अनुसार सीरिया की सीमा में घुसते ही आईएस के कार्यकर्ताओं ने उन लड़कियों को गाड़ी में बिठाया और चले गए.

तुर्की के डिप्यूटी प्रधानमंत्री बूलेंट अरिंक ने कहा, "यदि अधिकारियों को उन लड़कियों के बारे में पहले पता चल जाता तो वे उनको रोकने की कोशिश करते." लेकिन ब्रितानी पुलिस का कहना है कि लड़कियों के लापता होने के दूसरे ही दिन उन्होंने तुर्की अधिकारियों से संपर्क किया था.

इमेज कॉपीरइट Reuters

अपने माता पिता से एक दिन के लिए बाहर जाने के लिए कहकर लड़कियां ने गैटविक से तुर्की के लिए उड़ान भरी थी.

लड़कियां के परिवार वालों ने कई भावुक अपील के ज़रिए उन्हें घर बुलाया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)