सिख लड़के ने लिया अनूठे तरीके से बदला

  • 3 मार्च 2015
वीडियो ग्रेब इमेज कॉपीरइट

रोज़ाना की नस्ली छेड़छाड़ से तंग आकर दक्षिण अमरीका के जॉर्जिया में रहने वाले एक सिख लड़के ने इसका जबाव देने का अनोखा तरीका अपनाया.

स्कूल बस में बच्चे उसे 'टेररिस्ट' (आतंकवादी) कहकर चिढ़ाते थे.

यह बच्चा एक दिन कैमरा ले आया और जैसे ही बच्चों ने उसे छेड़ना शुरू किया, उसने कैमरा ऑन कर दिया.

वीडियो में इस सिख बच्चे का चेहरा दिखाई देता है और उसके पीछे कुछ बच्चे 'टेररिस्ट! टेररिस्ट! ' चिल्लाते हुए दिखाई देते हैं.

पीड़ित बच्चा कैमरे में बतलाता है, "ये बच्चे मुझसे नस्ली व्यवहार कर रहे हैं. पीछे खड़ी एक लड़की उससे कहती है, हमारी फिल्म उतारना बंद करो!"

लेकिन लड़का इनकार करते हुए कहता है, "अगर तुम मुझसे ऐसा व्यवहार करती रही तो मैं बंद नहीं करूंगा."

उसने ये वीडियो खुद यूट्यूब पर अपलोड किया लेकिन अब इसे 'प्राइवेट' यानी निजी ऑप्शन पर सेट कर दिया गया है.

लेकिन इससे पहले इस वीडियो की डुप्लीकेट कॉपी को लगभग पचास लाख बार देखा जा चुका था.

इस वीडियो से ना सिर्फ नस्ली रवैए पर बल्कि 'बुलिंग' (डराने धमकाने) पर भी बहस फिर छिड़ गई है.

तमाम तरह की टिप्पणियां

Image caption इस वीडियो को तमाम तरह के कमेंट्स मिले हैं

इस वीडियो के नीचे तमाम तरह की टिप्पणियां लिखी हैं.

कुछ लोगों ने इस बच्चे के साहस की तारीफ़ की है तो कुछ इस बात से हैरान हैं कि इस सिख बच्चे को 'टेररिस्ट' बुलाया जा रहा था.

वीडियो के बारे में कुछ नस्ली टिप्पणियां भी की गई हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार