समुद्र में नया द्वीप

ज्वालामुखी विस्फोट से बना नया द्वीप इमेज कॉपीरइट GP Orbassano
Image caption ज्वालामुखी विस्फोट होने से बना नया द्वीप

पानी के भीतर ज्वालामुखी विस्फोट होने से दक्षिणी प्रशांत महासागर में एक नया द्वीप बन गया है..

500 मीटर लंबा ये नया द्वीप होंगा—टोंगा ज्वालामुखी में दिसम्बर में हुए विस्फोट के बाद बनना शुरू हुआ था.

ये टोंगा की राजधानी नुकुल्हूफा से उत्तर—दक्षिण की ओर 45 किमी की दूरी पर है.

'हुंगा टोंगा हुंगा हापाई' नाम के इस ज्वालामुखी में पिछले पांच साल में दूसरी बार विस्फोट हुआ था.

तस्वीरों में नया द्वीप

इमेज कॉपीरइट CNES AIRBUS

सैकड़ों मीटर दूर एक नौका से लिए गए विडियो में समुद्र से तेजी से उठता गैस का एक गुबार दिखाई दे रहा है.

विस्फोट के बाद से सैटेलाईट से ली गई तस्वीरों में भी नई बनती चट्टानें और अवसाद दिखाई दे रहा है.

टोंगा के मुख्य द्वीव में रहने वाले गिएनपिएरो ऑरबेसेनो नाम के एक व्यक्ति ने इस नए द्वीप की अनोखी तस्वीरें उतारी हैं.

ऑरबेसेनो टोंगा में एक होटल के मालिक हैं वे अपने दो दोस्तों के साथ इस नए द्वीप पर गए थे.

ख़तरे पर असमंजस

इमेज कॉपीरइट GP Orbassano

ऑरबेसेनो कहते हैं, ''ये काफी सुरक्षित है. दिक्कत केवल ये है कि नाव से इस द्वीप पर कैसे चढ़ा जाए. उसका तल अभी गर्म है आप इसे महसूस कर सकते हैं. और धूप में इस पर चढ़ना बहुत कठिन है.''

लेकिन ब्रिस्टल विश्वविद्यालय में नेचुरल हेज़ार्ड विभाग के रीडर मैट वाटसन बताते हैं कि इस द्वीप का तल बेहद अस्थिर है और वहां जाने वालों के लिए ये ख़तरनाक हो सकता है.

वे कहते हैं, ''ये मेग्मा के विखंडन से बना है, इसलिए ये मूलत: चट्टान के छोटे—छोटे टुकड़ों के एक दूसरे के ऊपर आने से बना द्वीप है.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार