न्यूज़ अलर्ट: ईरान के परमाणु कार्यक्रम पर बातचीत

आज जिन ख़बरों पर नज़र रहेगी उनमें ईरान के परमाणु कार्यक्रम को लेकर होने वाली बातचीत, सीरिया में गृहयुद्ध के पांचवें साल में प्रवेश और इराक़ के टिकरित शहर पर नियंत्रण को लेकर इस्लामिक स्टेट और सेना के बीच जारी लड़ाई प्रमुख हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

ईरान के साथ अमरीका, ब्रिटेन, जर्मनी, फ्रांस, चीन और रूस की बातचीत आज से मिस्र के तटीय शहर शर्म-अल-शेख़ में शुरू हो रही है.

इससे पहले अमरीका के विदेश मंत्री जॉन केरी ने कहा है कि अभी ये साफ़ नहीं है कि ईरान के परमाणु कार्यक्रम पर कोई अंतरिम समझौता हो पाएगा या नहीं.

शर्म-अल-शेख़ में पत्रकारों से बातचीत में केरी ने कहा, ''मैं अभी यह नहीं कह सकता है कि क्या हम किसी समझौते के नज़दीक हैं या नहीं. इस बातचीत का मक़सद सिर्फ़ किसी नतीजे पर पहुंचना नहीं है बल्कि सही नतीजे पर पहुंचना है.''

केरी ने आशंंका जताई कि संभव है कि पिछले हफ़्ते रिपब्लिकन सीनेटरों के ईरान को भेजे पत्र से बातचीत की प्रक्रिया को नुक़सान पहुंचा हो.

सीरिया में गृहयुद्ध

इमेज कॉपीरइट Reuters

सीरिया में गृहयुद्ध आज पांचवें वर्ष में प्रवेश कर गया है.

पांच वर्ष पहले गृहयुद्ध की शुरुआत सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल असद की सरकार के ख़िलाफ़ प्रदर्शनों से हुई थी जिसने बाद में गृहयुद्ध का रूप ले लिया.

इस गृहयुद्ध में अभी तक दो लाख से अधिक लोग मारे जा चुके हैं. साल 2014 में सबसे ज़्यादा 76,000 लोग मारे गए थे.

देश में क़रीब 50 लाख ऐसे लोग हैं जिन तक पहुंचना मुश्किल है.

संयुक्त राष्ट्र के आंकड़ों के अनुसार युद्ध से प्रभावित क़रीब 56 लाख बच्चों को मदद की ज़रूरत है और 16 लाख बच्चे स्कूल नहीं जा पा रहे हैं.

वर्ष 2014 में जेनेवा में इस समस्या को सुलझाने के लिए बुलाई गई बैठक की विफलता के बाद इस्लामिक स्टेट ने सीरिया और इराक़ के एक बड़े हिस्से पर क़ब्ज़ा कर लिया है.

टिकरित की लड़ाई

इमेज कॉपीरइट AP

इराक़ के शहर टिकरित में सरकारी सेनाओं और इस्लामिक स्टेट के बीच लड़ाई आख़िरी चरण में पहुंच गई है.

इराक़ी सेना के एक कमांडर ने बीबीसी से बातचीत में उम्मीद जताई कि वो एक हफ़्ते के भीतर इस शहर को कट्टरपंथियों से मु्क्त कराने में सफल हो जाएंगे.

इराक़ी सेना के साथ कंधे से कंधा मिलाकर युद्ध कर रहे शिया सहायक सैनिकों के एक प्रमुख अधिकारी ने कहा कि टिकरित शहर का 70 प्रतिशत हिस्सा अभी भी इस्लामिक स्टेट के क़ब्ज़े में है लेकिन उनके सैनिक आख़िरी सांस तक लड़ने के लिए तैयार हैं.

रिपोर्टों के अनुसार इराक़ी सेनाओं ने पहले ही पुलिस मुख्यालय और एक अस्पताल को मुक्त करा दिया है.

टिकरित में मौजूद बीबीसी संवाददाता जोनाथन बील ने बताया है कि शहर में हो रही गोलीबारी की आवाज़ें कई किलोमीटर दूर से सुनाई पड़ रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार