'अफ़ग़ानिस्तान में मौजूद है आईएस'

अफ़ग़ानिस्तान ने पहली बार देश में चरमपंथी संगठन इस्लामिक स्टेट के मौजूद होने की सीधे तौर पर पुष्टि की है.

राष्ट्रपति अशरफ़ ग़नी के एक प्रवक्ता ने बीबीसी को बताया है कि इस बात में कोई संदेह नहीं कि इस्लामिक स्टेट उनके देश में मौजूद है.

उन्होंने कहा कि यह देश के लिए वास्तव में चिंता की बात थी और सरकार ने इससे निपटने के लिए योजना बनाई थी.

प्रवक्ता ने हाल की कुछ रिपोर्टों का ज़िक्र करते हुए कहा कि आईएस के साथ संबंधों की आशंका में दो चरमपंथी कमांडरों की हत्या कर दी गई थी.

इनमें एक को अमरीकी ड्रोन हमले में मार गिराया गया था जबकि दूसरे को अफ़गान सुरक्षा बलों ने मार दिया था.

सोमवार को अफ़ग़ानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र मिशन के प्रमुख निकोलस हेसम ने भी कहा था कि आईएस देश में पैर पसार चुका है.

उनका कहना था कि इस बात को तो दावे के साथ नहीं कहा जा सकता कि उसकी जड़ें यहां जम चुकी हैं लेकिन वो दूसरे चरमपंथी संगठनों के लिए मददगार साबित हो सकता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार