पिकासो की 200 पेंटिंग्स लौटाने के आदेश

picass_electrician इमेज कॉपीरइट Reuters

फ्रांस की एक अदालत ने एक इलेक्ट्रीशियन को मशहूर चित्रकार पाब्लो पिकासो की 200 पेंटिंग्स लौटाने का आदेश दिया है.

75 वर्षीय इलेक्ट्रीशियन पियर ले ग्यूनेक को पिकासो की पेंटिंग्स चुराने का दोषी पाया गया है और दो साल की सज़ा सुनाई गई है.

पियर और उनकी पत्नी डेनियल ने कथित तौर पर पेंटिंग्स को फ्रांस के ग्रास शहर स्थित अपने घर में 40 साल तक छिपा कर रखा था.

इन पेंटिंग्स को अब पिकासो एडमिनिस्ट्रेशन को लौटा दिया जाएगा.

अरबों रुपए हो सकती है क़ीमत

इमेज कॉपीरइट AP

इस पूरे कलेक्शन की कीमत अभी नहीं लगाई गई है.

लेकिन 1942 में पिकासो ने अपनी प्रेमिका डोरा मार की एक पोट्रेट बनाई थी जो पिछले साल मई में 22.6 मिलियन डॉलर (1.40 अरब रुपये) में बिकी थी.

पियर के इस कलेक्शन में 1900 से 1932 के बीच बनाई गईं लिथोग्राफ्स, पोट्रेट और स्केच शामिल हैं.

पिकासो की पत्नी ने दी पेंटिंग्स

इमेज कॉपीरइट EPA

वहीं दूसरी तरफ पियर का कहना है कि पिकासो ने 1973 में मरने से पहले उन्हें यह पेंटिंग्स दी गईं थीं.

केस के दौरान पियर ने कहा, ''पिकासो को मुझ पर विश्वास था. शायद ये मेरी ईमानदारी थी.''

पियर ने कहा कि पिकासो की पत्नी जैक्लीन ने उन्हें एक बॉक्स दिया जिसमें 271 पेंटिंग्स थीं.

पांच साल सज़ा देने की अपील

इमेज कॉपीरइट .

यह पेंटिंग पियर के गैराज में 2010 तक थीं.

लेकिन इसके बाद पियर इन पेंटिंग्स की पहचान करवाले के लिए पेरिस ले गए.

इसकी जानकारी मिलने पर पिकासो के घरवालों ने उनके ख़िलाफ़ केस दर्ज कराया.

अभियोजन पक्ष ने दंपति के ख़िलाफ़ पांच साल की सज़ा देने की अपील की है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार