यमन के राष्ट्रपति लापता, विद्रोही आगे बढ़े

यमन हूती विद्रोही इमेज कॉपीरइट EPA

यमन में विद्रोहियों की ओर से हो रहे भीषण हमलों के बीच ख़बरेेेें मिल रही हैं कि राष्ट्रपति अब्द राब्बुह मंसूर हादी को कोई अतापता नहीं है.

सरकार विरोधी हूथी विद्रोही देश के दक्षिणी हिस्से में आगे बढ़ रहे हैं.

राष्ट्रपति हादी ने दक्षिण में तटवर्ती शहर अदेन में अपना नया ठिकाना बनाया था.

ख़बरें ऐसी भी आ रही हैं कि राष्ट्रपति मंसूर हादी अदेन ने राष्ट्रपति आवास छोड़ दिया है हालांकि राष्ट्रपति के सहयोगियों ने उनके देश छोड़कर भागने की ख़बरों से इनकार किया है.

इमेज कॉपीरइट .
Image caption यमन के राष्ट्रपति हादी का अता-पता मालूम नहीं चल रहा है.

कुछ मिनट पहले यमन से ऐसी भी ख़बरें आई हैं कि यमन में युद्धक विमानों ने अदेन में स्थित राष्ट्रपति आवास पर हमला किया है.

कौन हैं हूती

हूथी विद्रोहियों ने राष्ट्रपति को पकड़वाने के लिए बड़ी राशि की घोषणा की है और ख़बरें हैं कि रक्षा मंत्री को कैद कर लिया गया है.

पिछले साल सितंबर में हूती विद्रोहियों ने राजधानी सना पर सिर्फ़ चार हफ़्तों में कब्ज़ा कर लिया था.

हूती शिया मुसलमानों की एक उप-शाखा ज़ैदी समुदाय से हैं. अल-क़ायदा और अन्य सुन्नी चरमपंथी समूह उनके ख़िलाफ़ हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

बीबीसी संवाददाता सफ़ा अलअहमद को सना के हालिया दौरे में दीवीरों पर हूती नारे लिखे दिखे.

यह ईरान से प्रेरित राजनीतिक गीत थे जिन्हें 1979 की क्रांति के दौरान बोला जाता था. इनमें लिखा था, "अल्लाह महान है. अमरीका का नाश हो. इसराइल का नाश हो. अल्लाह यहूदियों का विनाश करे. इस्लाम की जीत हो."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार