'सह पॉयलट ही विमान को नष्ट करना चाहता था'

ब्राइस रोबिन इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption फ्रांस के सरकारी अभियोजक ब्राइस रोबिन.

फ़्रांस के अधिकारियों का कहना है कि ऐसा लगता है कि मंगलवार को एल्प्स पर्वत शृंखला में दुर्घटनाग्रस्त हुए जर्मनविंग्स के विमान का सह पायलट 'विमान को नष्ट करना' चाहता था.

फ़्रांसीसी शहर मार्से के सरकारी अभियोजक ब्राइस रोबिन ने ब्लैक बॉक्स के वॉइस रिकॉर्ड से मिली जानकारी का हवाला देते हुए कहा कि हादसे के समय सह पायलट कॉकपिट में अकेला था.

उन्होंने बताया कि पायलट जब बाहर था तो सह पायलट ने जान बूझकर कर विमान को नीचे लाना शुरू कर दिया था.

रोबिन ने कहा, ''उस समय कॉकपिट में बिल्कुल सन्नाटा पसरा था.''

'अंतिम समय तक जीवित'

इमेज कॉपीरइट BEA

उन्होंने बताया, ''हालांकि हादसे के ठीक पहले यात्रियों की चीख-पुकार सुनी जा सकती थी.''

अभियोजक ने बताया कि सह पायलट का नाम एंड्रियाज़ लूबिट्ज (28) था और वो विमान के ज़मीन से टकराने तक जीवित था.

मंगलवार को एयरबस 320 विमान बर्सिलोना से डूसेलडॉर्फ़ जाते हुए दुर्घटनाग्रस्त हो गया था.

हादसे से पहले विमान आठ मिनट तक नीचे की ओर आया था.

संवाददाताओं से रोबिन ने कहा, “हमने पायलट को अपने सह पायलट से विमान का नियंत्रण लेने को कहते सुना और इसी समय सीट पीछे ले जाने और दरवाज़ा बंद होने की आवाज आती है.”

जानबूझ कर की गई कार्रवाई?

इमेज कॉपीरइट EPA

रोबिन के अनुसार, “उस समय सह पायलट पूरी तरह विमान को नियंत्रित कर रहा है. अकेला होने पर वो विमान को नीचे ले जाने के लिए फ़्लाइट मॉनीटरिंग सिस्टम के बटन दबाता है.”

उन्होंने कहा, “ऊंचाई नियंत्रित करने वाली यह कार्रवाई केवल जान बूझकर ही की जा सकती है.”

उन्होंने बताया, “सबसे विश्वसनीय लगने वाली व्याख्या तो यही है कि सह पायलट ने कैप्टन को अंदर आने से रोकने के लिए ही दरवाज़ा नहीं खोला. उसने विमान को नीचे ले जाने के लिए बटन दबाया.”

उन्होंने कहा, “उसने यह बटन किसी कारण से दबाया था, जिसे अभी तक हम नहीं जानते, लेकिन ऐसा लगता है कि यह कारण था विमान को नष्ट करना.”

चरमपंथ से संबंध!

इमेज कॉपीरइट EPA

रोबिन ने कहा कि एयर ट्रैफ़िक कंट्रोलरों ने विमान से सम्पर्क करने की कई कोशिशें कीं, लेकिन कोई फ़ायदा नहीं हुआ.

उन्होंने कहा, “किसी चरमपंथ या आतंकवाद से सह पायलट के सम्बंध थे, इसकी हमें जानकारी नहीं है.”

लेकिन उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि जर्मनी के अधिकारी उसकी पृष्ठभूमि और निज़ी ज़िंदगी के बारे में और जानकारी देंगे.

विमान में सवार 150 यात्रियों और चालक दल के सदस्यों के परिजन गुरुवार को हादसे की जगह पहुंचने वाले हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)