यमन में सैनिक कार्रवाई के विरोध में ईरान

हसन रुहानी इमेज कॉपीरइट AP

ईरान के राष्ट्रपति हसन रुहानी ने यमन में हूती विद्रोहियों के ख़िलाफ़ अभियान रोकने की अपील की है.

यमन में सऊदी अरब के नेतृत्व में गठबंधन सेना हूती विद्रोहियों के ख़िलाफ़ अभियान चला रही है.

यमन के राष्ट्रपति मंसूर हादी सऊदी अरब भाग गए है.

उनके समर्थक एक पखवाड़े से सऊदी अरब के नेतृत्व वाली गठबंधन सेना के हवाई हमलों की मदद से विद्रोहियों से लड़ रहे हैं.

हूती के ख़िलाफ़ हमले 'एक ग़लती'

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption यमन में एक पखवाड़े से संघर्ष तेज़ हुआ है

रुहानी ने हूती विद्रोहियों के ख़िलाफ़ हमलों को ‘एक ग़लती’ करार दिया है.

साथ ही ईरान ने सऊदी अरब के उन आरोपों को भी ख़ारिज़ किया है, जिनमें कहा जा रहा है कि ईरान शिया हूती विद्रोहियों को प्रशिक्षण दे रहा है.

ईरान ने इन आरोपों पर अपना विरोध दर्ज कराने के लिए तेहरान में सऊदी अरब के प्रतिनिधि को तलब किया.

सऊदी अरब के गठबंधन वाली सेनाओं ने यमन के उत्तर, मध्य और दक्षिणी हिस्से में हूती विद्रोहियों को निशाना बनाकर कई हवाई हमले किए हैं.

इमेज कॉपीरइट AP

विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि यमन में बीते कुछ हफ्तों से जारी लड़ाई में 550 लोग मारे जा चुके हैं और 1700 लोग घायल हुए हैं.

सहायता एजेंसियों का कहना है कि लड़ाई की वजह से एक लाख़ से ज़्यादा लोग विस्थापित हुए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार