आसमान में चमकेगा मलाला के नाम का 'तारा'

  • 11 अप्रैल 2015
मलाला के नाम पर एस्टेरॉइड इमेज कॉपीरइट NASA

नोबेल पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफ़ज़ई के नाम पर एक एस्टेरॉइड का नाम रखा गया है.

ये एस्टेरॉइड आकार में चार किलोमीटर की परिधि का है.

‘मलाला एस्टेरॉइड’ मंगल और बृहस्पति ग्रहों की मुख्य एस्टेरॉइड शृंखला में स्थित है और सूर्य की परिक्रमा पूरा करने में साढ़े पाँच साल का समय लेता है.

नासा ने की थी खोज

इमेज कॉपीरइट nasa

इस एस्टेरॉइड की खोज साल 2010 में अमरीकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा की एमी मेन्ज़र ने की थी, अब तक इसे 316201 के नाम से जाना जाता था.

मलाला फंड ब्लॉग पर मेन्ज़र ने लिखा कि वह चाहतीं थीं कि यह क़दम युवा महिलाओं के लिए प्रेरणा बने.

मेन्ज़र ने लिख़ा, “हमें ऐसे बुद्धिमान लोगों की सख्त ज़रूरत है जो मानवता की सबसे मुश्किल समस्याओं को सुलझा सकें, और हम दुनिया की आधी आबादी की अनदेखी करने का ख़तरा नहीं उठा सकते.”

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

अक्तूबर 2012 में पाकिस्तान की स्वात घाटी में एक स्कूल बस में जा रही मलाला को गोली मार दी गई थी.

मलाला पहली बार सुर्खियों में वर्ष 2009 में आईं जब 11 साल की उम्र में उन्होंने तालिबान के साए में ज़िंदगी के बारे में गुल मकाई नाम से बीबीसी उर्दू के लिए डायरी लिखना शुरू किया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार