मुस्लिम ब्रदरहुड के प्रमुख को मौत की सज़ा

mohammed badie इमेज कॉपीरइट AFP

मिस्र की एक अदालत ने चरमपंथी संगठन मुस्लिम ब्रदरहुड के प्रमुख मोहम्मद बदी और 13 अन्य लोगों की मौत की सज़ा बरकरार रख़ी है.

इन सभी पर देश के ख़िलाफ़ हमले की साज़िश रचने का आरोप है.

साथ ही अमरीकी मूल के मिस्र के नागरिक मोहम्मद सुल्तान को ब्रदरहुड की मदद करने और अफवाहें फैलाने का दोषी पाते हुए आजीवन कारावास की सज़ा सुनाई है.

साथ ही 36 अन्य लोगों को भी आजीवन कारवास की सज़ा सुनाई गई है.

बदी और भी कई मामलो में दोषी हैं. उन्हें मार्च में दोषी ठहराया गया था.

कार्रवाई

इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption मोहम्मद मोर्सी

राष्ट्रपति मोहम्मद मोर्सी को 2013 में हटाने के बाद मुस्लिम ब्रदरहुड पर कार्रवाई शुरू की गई थी.

इसी के चलते सैकड़ों लोगों को मौत की सज़ा सुनाई गई है. लेकिन अभी तक एक को ही मौत की सज़ा दी गई है.

मुस्लिम ब्रदरहुड के नेताओं पर आरोप है कि उन्होंने अपने संगठन के लोगों को देश के साथ टकराव और अफ़रा-तफ़री का माहौल पैदा करने के लिए भड़काया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित इंटरनेट लिंक

बीबीसी बाहरी इंटरनेट साइट की सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है