किस रंग की कार सबसे ज़्यादा बिकती है?

इमेज कॉपीरइट Alfa Romeo 8C Competizione. Fiat Group

अमरीका स्थित कोटिंग मैन्यूफ़ैक्चर कंपनी अक्सालटा ने हाल ही में ऑटोमोटिव ट्रेंड पर एक सर्वे कराया है, जिसमें ये जानने की कोशिश की गई है कि दुनिया भर में किस रंग की कार सबसे ज़्यादा बिकती है.

इस सर्वे के मुताबिक सफ़ेद कारें दुनिया भर में सबसे ज़्यादा बिकती हैं. ग्लोबल कार मार्केट में साल 2013 में जितनी नई कारें बिकीं थीं, उनमें 29 फ़ीसदी कारें सफ़ेद रंग की हैं.

दुनिया भर में बिक्री के लिहाज से कौन सी 10 रंगों की कार सबसे ज़्यादा लोकप्रिय है. इस पर एक नज़र डालने के साथ ये जानना बेहद दिलचस्प है कि कौन सी कार के मॉडल और डिज़ाइन ने ख़ास रंग की कार को लोकप्रिय बनाया.

तो एक नज़र अलग-अलग रंगों की कार पर और उस रंग विशेष की कार के ख़ास एंबैसडर पर.

सफ़ेद कार दुनिया भर में सबसे ज़्यादा लोकप्रिय है. सफ़ेद कारों को दुनिया भर में लोकप्रिय बनाने में लोटस स्प्रिट एस 1 का अहम योगदान रहा है.

सफ़ेद रंग की इस दिलकश कार को पहली बार 1972 के तूरिन मोटर शो में पेश किया गया था.

इमेज कॉपीरइट White 1976 Lotus Esprit S1. Newspress

बाद में जब इस कार का इस्तेमाल प्रोड्यूसर अलबर्ट आर ब्रोकोली ने जेम्स बांड सिरीज़़ की फ़िल्म 'द स्पाई हू लव्ड मी' में किया, तब इस कार की लोकप्रियता काफ़ी बढ़ गई थी.

दुनिया भर में काले रंग की कारों को भी लोग खूब पसंद करते हैं. इस रंग की कार का सांकेतिक वैल्यू भी है.

विद्रोही, त्याग करने वाले, अकेले रहने वाले और कुटिल गुण वालों को इस रंग की कार खूब पसंद आती रही हैं.

काले रंग की जो कार शुरुआती दिनों में सबसे ज़्यादा मशहूर हुई उनमें जनरल मोटर्स के जीएनएक्स सिरीज़़ की कारें थी.

इमेज कॉपीरइट Black 1987 Buick GNX. General Motors

इस मॉडल की साल में कंपनी केवल 547 कारें तैयार कर रही थी लेकिन इसका जादू लंबे समय तक लोगों के दिलों पर रहा.

सिल्वर पेंट वाली कारों को बाज़ार में जर्मन कारों ने स्थापित किया. सिल्वर पेंटेड कारों का इतिहास जर्मन कारों जितना ही पुराना है.

इमेज कॉपीरइट MercedesBenz 300 SL Transaxle Prototype Daimler

लेकिन इस रंग को सबसे ज़्यादा लोकप्रिय मर्सिडीज़ ने बनाया. मर्सिडीज बेंज ने अपनी 300 एसएल कूपे को 1954 में बाज़ार में उतरा था.

गनमेटल-ग्रे रंग की कारें भी दुनिया भर में लोगों को खूब पसंद आती हैं. उपर की तस्वीर में 1964 की एस्टन मार्टिन कार नज़र आ रही हैं.

इमेज कॉपीरइट Aston Martin DB5..Newspress

ऐसी एक कार 2010 में जब नीलामी के लिए आई तो उसकी बोली 46 लाख डॉलर तक पहुंच गई.

खूबसूरती का इतालवी समाज से ख़ास रिश्ता है. फ़रारी की अल्फ़ा रोमियो 8 सी ने लाल रंग की कारों को लोकप्रिय बनाया.

इमेज कॉपीरइट Alfa Romeo 8C Competizione Fiat Group

8 सी सिरीज़़ की कारों को बेस्ट लुकिंग कारों में शुमार किया जाता है जबकि ये कार 1960 के दशक में आई थी.

अल्पाइन ए110 सिरीज़ की कार ब्लू दिख रही है लेकिन ये केवल ब्लू नहीं है. बल्कि इसे ब्लू ड फ्रांस कहते हैं. क्योंकि फ्रांस की रेसिंग कारों का रंग ऐसा ही होता है.

इमेज कॉपीरइट Renault Alpine A110..Renault

12वीं शताब्दी से इन रंग की कारों का इस्तेमाल फ्रांस की स्पोर्ट्स टीम करती रही हैं. रेनॉ की ये कार 1960 और 1970 के दशक में काफ़ी लोकप्रिय हुई थी.

स्टीव मैकक्वीन जितने मशहूर एक्टर थे, उतने ही लोकप्रिय कार रेसर भी. उन्होंने फ़रारी की दो कारों को बेहद लोकप्रिय बनाया.

इमेज कॉपीरइट Ferrari 250 GT Lusso. Christies

250 जीटी लूसो की 2011 में छह लाख डॉलर में नीलामी हुई. लेकिन महोगनी कलर वाली मॉडल की नीलामी 23 लाख डॉलर में हुई थी.

उपर तस्वीर में दिख रही कार टोयोटा की पीले रंग की कार है.

2013 में इसकी नीलामी 11.5 लाख डॉलर में हुई थी.

यामहा और टोयोटा की 2000जीटी वाली इस कार को जगुआर ई-टाइप की कार का दर्जा हासिल है.

इमेज कॉपीरइट Toyota 2000GT. RM Auctions

150 हार्स पावर की इस कार में 6 सिलिंडर का इंजन लगा था और इसकी अधिकतम स्पीड 135 मील प्रति घंटे तक आंकी गई.

हरे रंग की कारें भी ख़ूब लोकप्रिय हुईं. 1970 के देशक में प्लेमाउथ सुपरबर्ड मशहूर हुईं. इसके पोर्से ने 73 के दशक में वाइपर ग्रीन रंग की कार उतारी. लेकिन हरे रंग की जो कार सबसे ज़्यादा मशहूर हुई वो जगुआर की एक्सजे 13 थीं.

इमेज कॉपीरइट 1966 Jaguar XJ13 Jaguar Cars

इस कार का डिजाइन मैलकॉम सायर ने तैयार किया था, जो पहले ही जगुआर की सी, डी, ई टाइप की कारों को तैयार कर चुके थे.

तो ये वो दस रंग की कारें जो दुनिया भर में सबसे ज़्यादा बिकती हैं. अक्सालटा के मुताबिक दुनिया भर में 2013 में जितनी कारें बिकीं, उनमें महज तीन फ़ीसदी कारें वैसी थीं जो उपर बताए गए रंग से अलग थीं.

वैसे इन दिनों मल्टीकलर कारों का जमाना भी चल निकला है. बीएमडब्ल्यू की आर्ट कार सिरीज़ के तहत एम3 जीटी2 रेसिंग कार तैयार की गई, जिसे अमरीकी पॉप आर्टिस्ट जैफ कूंस ने पेंट किया.

इमेज कॉपीरइट BMW M3 GT2 by Jeff Koons. BMW Group

नवंबर, 2013 में इस कार की नीलामी 5.84 करोड़ डॉलर के रिकॉर्ड मूल्य में हुई.

अंग्रेज़ी में मूल लेख यहाँ पढ़ें जो बीबीसी ऑटोस पर उपलब्ध है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार