नोबल विजेता गूंटर ग्रास नहीं रहे

गंथर ग्रास इमेज कॉपीरइट Reuters

जर्मनी के नोबल पुरस्कार विजेता, लेखक गूंटर ग्रास का 87 साल की उम्र में निधन हो गया है.

'द टिन ड्रम' के लेखक ग्रास के प्रकाशक ने कहा कि लुइबेक शहर के एक क्लिनिक में उन्होंने अंतिम सांसें लीं.

ग्रास ने द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान जर्मनी की सेना में काम किया था. उनका महत्वपूर्ण उपन्यास, द टिन ड्रम, 1959 में प्रकाशित हुआ था.

ग्रास को 1999 में नोबल पुरस्कार मिला था.

नैतिक आधार

इमेज कॉपीरइट Getty

'द टिन ड्रम' उनके गृहनगर दैनज़िग (जिसका अब पोलिश नाम दान्स्क है) की पृष्ठभूमि में लिखा गया है.

बाद में इस किताब पर बनी फ़िल्म को ऑस्कर और कान में पाल्म डि ओर पुरस्कार मिले.

उन्हें जंग के बाद जर्मनी में नैतिक मूल्यों की रक्षा करने वाले लेखक के तौर पर देखा जाता था.

इमेज कॉपीरइट AFP

वह 1990 में जर्मनी के एकीकरण के कड़े आलोचक रहे और बाद में भी कहते रहे कि यह बहुत जल्दबाज़ी में किया गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार