इराक़ियों की हत्या: अमरीकी गार्ड को उम्र क़ैद

  • 14 अप्रैल 2015
इमेज कॉपीरइट AP

सुरक्षा गार्ड्स मुहैया कराने वाली अमरीकी कंपनी ब्लैकवॉटर के एक पूर्व गार्ड को 14 इराक़ी नागरिकों की हत्या के मामले में आजीवन क़ैद की सज़ा सुनाई गई है.

इसी मामले में तीन अन्य गार्ड्स को 30-30 साल क़ैद की सज़ा सुनाई गई है. ये घटना वर्ष 2007 की है.

निकोलस स्लाटेन और तीन अन्य को पिछले साल 14 इराक़ियों की हत्या के मामले में दोषी ठहराया गया था.

वर्ष 2007 में इराक़ की राजधानी बग़दाद के निसूर चौक पर हुई गोलीबारी में 14 इराक़ी नागरिक मारे गए थे और 17 अन्य घायल हो गए हैं.

इमेज कॉपीरइट AP

ये घटना उस समय हुई, जब प्राइवेट कॉन्ट्रैक्टर्स ने अमरीकी गश्ती दल का रास्ता साफ़ करने के लिए गोलियाँ चलाईं.

इस गोलीबारी की घटना की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर काफ़ी निंदा हुई थी और सुरक्षा के क्षेत्र में कॉन्ट्रैक्टर्स की भूमिका पर भी सवाल उठे थे.

वॉशिंगटन डीसी की एक अदालत ने स्टालेन के अलावा पॉल स्लाव, इवान लिबर्टी और डस्टिन हर्ड को 30-30 साल क़ैद की सज़ा सुनाई.

इन गार्ड्स ने ये दावा किया था कि विद्रोहियों ने उन पर गोलियाँ चलाई थी, लेकिन वकीलों ने सफलतापूर्वक ये तर्क दिया कि इन लोगों ने बिना किसी उकसावे के नागरियों पर गोलियाँ चलाई.

बचाव पक्ष के वकील ने सज़ा में नरमी बरतने की अपील की थी, जो नहीं मानी गई.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं. )

संबंधित समाचार