कैंडी क्रश के चक्कर में करवानी पड़ी सर्जरी

कैंडी क्रश इमेज कॉपीरइट AFP

स्मार्टफ़ोन पर गेम्स खेलने का शौक बहुत से लोगों को होता है. लेकिन इसकी लत लगना आपकी उंगलियों के लिए ख़तरनाक साबित हो सकता है.

अमरीका के कैलिफ़ॉर्निया में 29 वर्षीय एक व्यक्ति को अपने स्मार्टफ़ोन पर ‘कैंडी क्रश’ खेलने का ऐसा शौक चढ़ा कि वो घंटों लगातार खेलते रहे.

उन्हें इस बात का पता भी नहीं चला कि अपने अंगूठों का इस क़दर इस्तेमाल करने से उनके अंगूठे का एक टिश्यू फट गया.

ख़बरों के मुताबिक़, ये व्यक्ति छह से आठ हफ़्तों तक नियमित रूप से कैंडी क्रश खेलता रहा और जब अंगूठा सुन्न पड़ गया तो उसे डॉक्टर के पास जाना पड़ा.

डॉक्टर ने जब चोट का जायज़ा लिया तो बताया कि उनके अंगूठे को सर्जरी की ज़रूरत है.

जिन डॉक्टरों ने उनका इलाज किया उनका कहना था कि, "विडियो गेम्स का उंगलियों की मांसपेशियों पर ऐसा असर होता है कि वो दर्द के मारे सुन्न हो जाती हैं."

'दर्द भुलाने वाले गेम्स'

इमेज कॉपीरइट Reuters

लगातार गेम्स खेलने वालों को इसीलिए दर्द का भी एहसास नहीं होता.

शोधकर्ताओं का कहना है कि गेम्स की लत ऐसी चीज़ होती है कि उसकी चपेट में आया इंसान अपने शारीरिक दर्द को भी भूल जाता है.

डॉक्टरों के मुताबिक़, दिन में आधे घंटे से ज़्यादा स्मार्टफ़ोन पर गेम्स खेलना स्वास्थय के लिए हानिकारक हो सकता है. और जब बात इस हद तक पहुंच जाए कि किसी को गेम्स की लत लग जाए, तो परिणाम गंभीर भी हो सकते हैं.

किंग डिजिटल एंटरटेन्मेंट द्वारा बनाई गई कैंडी क्रश नाम का गेम दुनिया भर में लोकप्रिय है. इसे केवल एंड्रॉयड पर ही डेढ़ करोड़ से ज़्यादा लोगों ने डाउनलोड किया है.

भारत में भी लाखों लोग इस गेम के दीवाने हैं. हालांकि इसे नापसंद करने वालों की तादाद भी कम नहीं है.

शुरुआत में इस गेम को फ़ेसबुक पर लॉन्च किया गया था, लेकिन इसकी बढ़ती लोकप्रियता को देखते हुए इसके लिए एक ख़ास मोबाइल ऐप भी बाज़ार में उतारा गया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार