ख़ुद पर हुआ शेर का हमला और खींच ली तस्वीर...

इमेज कॉपीरइट atif saeed fine art photography

ज़रा कल्पना कीजिए उस ख़ौफ़नाक लम्हे की जब शेर जैसा खूंखार जानवर आपसे कुछ कदम की दूरी पर खड़ा हो और आप पर झपट्टा मार रहा हो.

कुछ ऐसा ही हुआ पाकिस्तान के फ़ोटोग्राफ़र आतिफ़ सईद के साथ. आतिफ़ का दावा है कि हमले से ठीक पहले वे इस पल को कैमरे में क़ैद कर पाए.

शेर के हमले से चंद सेकेंड पहले खींची गई तस्वीर पिछले कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है.

उस दिन को याद करते हुए आतिफ़ बताते हैं, “मैं लाहौर में सफ़ारी पर था. मैं और मेरा फ़ोटोग्राफ़र दोस्त गाड़ी में थे. लाहौर में ठंड का समय था और हल्की-हल्की धुंध थी. वहां मैने शेर देखा, काले बालों वाला. क्या शानदार जानवर है. मैं कार का दरवाज़ा खोलकर नीचे ज़मीन पर कैमरा लेकर बैठ गया ताकि लो एंगल से फ़ोटो खींच सकूँ. शेर बैठा हुआ था."

आतिफ़ ने बताया, “शेर को तुरंत मेरी मौजूदगी का एहसास हो गया. ज़मीन पर बैठे होने की वजह से उसे शायद लगा कि कोई जानवर है शिकार के लिए. जब उसने मुझे देखा तो एक सेकेंड के लिए वह गुर्राया, गर्दन ऐंठी और मेरी तरफ़ झपटा. मैं किसी तरह कार में पहुंचने में सफल रहा. जब मुझ पर हमला हो रहा था तो उसी समय मैंने शेर की तस्वीर खींच ली.”

दिलेरी या ....

इमेज कॉपीरइट ATIF SAEED

इतना बड़ा जोखिम लेने के सवाल पर आतिफ़ कहते हैं कि उस समय उन्हें लगा कि उन्हें इस शेर को 'असल' रूप में क़ैद करना है और यही एक तरीका है.

वह कहते हैं कि उस वक्त तो उन्होंने इस घटना को हंसी में उड़ा दिया था लेकिन वह शायद दोबारा ऐसा काम नहीं करेंगे.

यूं तो उनका अपना कारोबार है लेकिन उन्हें प्रकृति से जुड़ी फ़ोटोग्राफ़ी का काफ़ी शौक है.

इस तस्वीर को इंटरनेट पर बहुत लोगों ने साझा किया. कोई उन्हें जुनूनी कह रहा है, कोई दिलेर और कोई बेवकूफ़ी भरा कदम उठाने वाला भी.

फ़ोटो के लिए किस हद तक ?

इमेज कॉपीरइट twitter.com

ब्रायन फॉनन ने ‏@BrianFaughnan हैंडल से लिखा है, "एक फ़ोटोग्राफ़र ने शेर का ज़बरदस्त क्लोज़ अप लिया है. आगे क्या हुआ ये जानकर आप यकीन नहीं करेंगे."

जबकि ‏@umairjav लिखते हैं कि आतिफ़ सईद जिन्होंने गुस्साए शेर की तस्वीर ली वह बहादुर/मू्र्ख इंसान हैं.

@MasalaBai हैंडल से ऋतुपर्णा चटर्जी ने लिखा है- झपटने से कुछ पल पहले ही फ़ोटोग्राफ़र ने शेर की यह शानदार तस्वीर ली.

@SamTheHypebeast ने ट्वीट किया है- इस अविश्वसनीय फ़ोटो में शेर को हमले से बस कुछ मिलीसेकेंड पहले दिखाया गया है. आतिफ़ काफ़ी ख़ुशकिस्मत रहे.

जबकि सोनिया ‏@SoniaW ने पूछा है कि एक परफ़ेक्ट फ़ोटो खींचने के लिए आप किस हद तक जा सकते हैं.

'क़ैद करना मुश्किल'

इमेज कॉपीरइट twitter.com

आतिफ़ तस्वीर से आगे की बात करते हुए कहते हैं, "लोग मुझसे बस यही पूछ रहे हैं कि मैं कैसे बच गया. लेकिन मैंने जो दृश्य अपनी आंखों से कैमरे के ज़रिए देखा वो किसी तस्वीर या मूवी में कैद हो ही नहीं सकता."

आतिफ़ बताते हैं कि उन्होंने 2013 में अपने फेसबुक पर तस्वीर डाली थी लेकिन दो साल बाद यह तब वायरल हुई जब एक अमरीकी पत्रकार ने उनसे संपर्क कर इस पर ख़बर छापी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार