मिस्त्र में 11 लोगों को मिलेगी फ़ांसी ?

फुटबॉल मैच में हुए दंगे इमेज कॉपीरइट AFP

मिस्त्र में 2012 के एक फुटबॉल मैच के दौरान हुए दंगों के लिए 11 लोगों को फ़ांसी की दिशा में एक और कदम बढ़ाया गया.

मामले की दोबारा सुनवाई के बाद एक आपराधिक कोर्ट ने इन लोगों की सज़ा-ए-मौत, सहमति के लिए मिस्त्र के ग्रैंड मुफ़्ती के पास भेज दी है.

ग्रैंड मुफ़्ती मिस्त्र के सबसे बड़े धार्मिक अधिकारी हैं. हालांकि ग्रैंड मुफ़्ती का फ़ैसला मानने की कोई कानूनी बाध्यता नहीं है लेकिन मौत की सज़ा देने से पहले पर उनकी राय लेना ज़रूरी होता है.

संभावना है इसी साल 30 मई तक कोर्ट इनकी सज़ा पर मुहर लगा सकता है.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption पोर्ट सईद शहर में फुटबॉल मैंच के दौरान प्रशंसकों के बीच हुई हिंसक झड़प

ये घटना 2012 में हुए एक क्लब फ़ुटबॉल मैच के दौरान हुई.

पोर्ट सईद शहर में दो प्रतिस्पर्धी क्लबों के प्रशंसकों के बीच हुई झड़प में 74 लोगों की मौत हो गई थी.

(इस झड़प का वीडियो)

एक अपील कोर्ट ने पिछले साल इसी मामले में 21 लोगों को मिली फांसी की सज़ा के फ़ैसले को नकारते हुए मामले की दोबारा सुनवाई का आदेश सुनाया था.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार