आप समय की कमी का रोना तो नहीं रोते?

इमेज कॉपीरइट SPL

आप सुबह दफ़्तर या बैठक के लिेए लेट हो रहे हों और अापका आईकार्ड, पर्स या मोबाइल घर पर छूट जाए...और केवल आपके छोटे बच्चे, दादी मां या घर के किसी अन्य सदस्य को पता हो कि आपकी ये चीज़ें कहाँ हैं...

कहीं आपके साथ तो ऐसा नहीं होता?

दरअसल ये सब उन लोगों के साथ होता है जो अपने समय का ठीक ढंग से हिसाब नहीं रख पाते. ऐसे में आपको ये लेख ज़रूर पढ़ना चाहिए.

हमने सवाल-जवाब की वेबसाइट क्योरा पर यही जानने की कोशिश की कि लोग किस तरह से व्यवस्थित रहते हैं.

वो लोग ऐसा क्या करते हैं जो समय पर अपना सारा काम पूरा कर लेते हैं. उनके पास ज़्यादा समय कैसे बच जाता है?

समय बचाने की ये 10 बातें अपनाएँ

1. टालमटोल से मुक्ति, आउटपुट तीन गुना:

डिज़ाइनर और उद्यमी मारियस उरसाशे अपने काम के दौरान हेडफ़ोन पहनते हैं. वो मानते हैं कि समय से सोने, खाने और अभ्यास से आप अपना आउटपुट तीन गुना बढ़ा सकते हैं.

मारियस कहते हैं, "टालमटोल के रवैए से छुटकारा पाने का सबसे बेहतर उपाय पूरे विशालकाय काम को एक झटके में करना नहीं है. बल्कि, ये लक्ष्य तय करना है कि पांच मिनट का समय देकर उस काम को शुरू किया जाए. अकसर आप पाएँगे कि ये 5 मिनट कहीं आगे बढ़ जाएँगे और विशालकाय काम का भय दिमाग से निकल जाएगा."

इमेज कॉपीरइट Getty

2. जीनियस हैं तब भी सब कुछ लिखें:

मारियस के मुताबिक कोई भी इंसान हर बात याद नहीं रख सकता. वे कहते हैं, "आप जीनियस भी हों तो सब कुछ याद नहीं रख सकते. लिहाज़ा आप अपने कामों की सूची नोटबुक या फिर फ़ोन की टू-डू-लिस्ट में लिख लें."

3. सुबह दिन प्लान कर लें:

इमेज कॉपीरइट PA

क्योरा पर आने वाले ज्यादातर पेशेवरों की राय के उलट मारियस ऑनलाइन टूल्स पर ज्यादा भरोसा नहीं करते. वो कहते हैं, "अभ्यास के ज़रिए आप टूल्स के उपयोग को कम कर सकते हैं. आपको अनुशासन अपनाना होगा. मैं दो काम करता हूँ - सुबह सुबह दिन भर की योजना बनाता हूँ और उसे नोटबुक में दर्ज कर लेता हूँ. इससे मैं बौखलाने से बच जाता हूँ और मेरी प्राथमिकताएं तय हो जाती हैं. पहले ज़रूरी काम ही करें और यूज़लेस कामों को छोड़ दें. ऐसा करने से मेरे तो कई घंटे बच जाते हैं."

4. ऑनलाइन टूल्स से फ़ायदा

कंप्यूटर साइंस में पीएचडी कर रहे जून हे कई ऑनलाइन टूल्स को फायदेमंद मानते हैं. टाइमर के लिए वे चीनी साफ़्टवेयर 'आईफ़ू' का इस्तेमाल करते हैं. ये टूल उनके पीसी स्क्रीन पर समय समय पर सूचनाएं देता रहता है. वे 'एवरनोट' को ज़रूरी बातें नोट करने के लिए और गूगल क्रोम का एड-ऑन टूल 'स्टेफोक्सड' का भी इस्तेमाल करते हैं. इसके ज़रिए आप निश्चित समय तक कुछ निश्चित वेबसाइटों की ही खोलते हैं.

वो कहते हैं, "मैं पहले बुकमार्क्स का इस्तेमाल करता था, लेकिन उससे वेबसाइटें गायब हो जाती थीं, अब ऐसा नहीं होता. और मैं सुबह जीमेल भी नहीं खोलता ताकि मेरा ध्यान न भटके और मैं ज़रूरी काम पहले ख़त्म करता हूँ."

5. इनबॉक्स के नियम तय करें:

जान लूस्ट्रो सलाह देती हैं कि आपको अपना इनबॉक्स समय समय पर खाली करते रहना चाहिए. वे कहती हैं, "कम महत्व वाले ईमेल मसलन - न्यूज़ लेटर्स, ब्लॉग अपडेट इत्यादि अपने आप बाद में पढ़ने वाली सामाग्री के फ़ोलडर में सीधे चले जाने चाहिए. इससे व्यस्त पलों में आपको मेल या ऐसे अपडेट पढ़ने का लालच नहीं होगा.

इमेज कॉपीरइट AP

लूस्ट्रो कहती हैं, "आपको मेल डिलिट करने, फारवर्ड करने और ऑटोमेटेड रिस्पांस के तरीकों को भी अपनाना चाहिए. उन मेल्स का सब्सक्रिप्शन बंद करें जिन्हें आप नियमित तौर पर बिना पढ़े ही डिलिट कर देते हैं."

6. दिनचर्या को अपने मुताबिक व्यवस्थित करें:

स्वरोज़गार कर रहे जर्मन पेशेवर बर्नहार्ड ग्रैबोस्की के मुताबिक घर और दफ़्तर के कामकाज को अपने ढंग से व्यवस्थित करना भी फ़ायेदमंद है. वो उदाहरण देते हुए बताते हैं, "स्नान करने से पहले कपड़े वाशिंग मशीन में डाल दें. स्नान के बाद धुले कपड़ों को ड्रायर में लगा दें और दूसरे कपड़ों को धोने के लिए डालना दें. नाश्ता करने के बाद ड्रायर से कपड़ों को निकालें और दूसरा सेट डाल दें."

ग्रैबोस्की के अनुसार दिन की बेहतरीन शुरुआत करें और काम को सही क्रम में करने से आप काफी समय बचा सकते हैं.

7. घर में खाली हाथ न टहलें

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

ग्रैबोस्की की दूसरी सलाह भी बेहद महत्वपूर्ण है.

वो कहते हैं, "घर के अंदर कभी खाली हाथ नहीं टहलना चाहिए. घरों के अंदर कई सामन अव्यवस्थित पड़ा होता है जिसके उसकी सही जगह या किसी दूसरी जगह रखने की ज़रूरत होती है. आप जब भी उठें तो कुछ सामान को उसकी उपयुक्त जगह पर रखने की कोशिश करें. इससे आप छोटे मोटे कामों में ख़र्च होने वाले समय की बचत कर सकते हैं."

(क्योरा पर जवाब देने वालों को साइट की वास्तविक नाम देने की नीति के चलते अपना असली नाम देना होता है. गुणवत्ता और वैधता को सुनिश्चित करने के लिए क्योरा उन विशेषज्ञों से उनके क्षेत्र के कुछ सवाल पूछता है.)

अंग्रेज़ी में मूल लेख यहाँ पढ़ें, जो बीबीसी कैपिटल पर उपलब्ध है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार