नौका के कप्तान पर 'नरसंहार' का केस दर्ज

हादसे में बचे लोग इमेज कॉपीरइट Getty

भूमध्य सागर नौका दुर्घटना मामले में, जिसमें 800 लोगों की मौत हो गई थी, कप्तान पर लापरवाही और कई लोगों की हत्या के ज़िम्मेदार होने का केस दर्ज किया गया है.

इतालवी पुलिस के मुताबिक़, कप्तान और उसके एक अन्य सहयोगी पर ग़ैरक़ानूनी तरीक़े से अप्रवासियों की मदद करने का भी मामला दर्ज किया गया है.

संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी (यूएनएचसीआर) का कहना है कि भूमध्य सागर में दो दिन पहले हुए नौका हादसे में 800 लोग मारे गए थे.

इमेज कॉपीरइट AP

इटली पुलिस ने इन दो लोगों को गिरफ़्तार किया था.

भूमध्यसागर में और चौकस हुआ यूरोप

बीते रविवार को लीबिया के समुद्री क्षेत्र में हुए हादसे को अब तक का सबसे बड़ा हादसा बताया जा रहा है.

संयुक्त राष्ट्र और आप्रवासियों से संबंधित दूसरे अंतरराष्ट्रीय संगठनों ने दुर्घटना में बचे हुए 27 लोगों से बातचीत की है.

'हादसों से कैसे बचें ..'

इमेज कॉपीरइट EPA

एक अधिकारी ने कहा है कि नौका में 10 से 12 साल के बच्चे भी थे और ये लोग शनिवार को सुबह त्रिपोली से रवाना हुए थे.”

यूरोपीय संघ के विदेश नीति के मुखिया फ़ेडरिका मोघेरिनी ने भूमध्य सागर में होने वाले हादसों से निपटने के लिए दस बिंदुओं की एक योजना सामने रखी है.

योजना के तहत तलाशी और बचाव अभियान को मज़बूत किया जाएगा और तस्करों की नावों को नष्ट करने का एक अभियान भी चलाया जाएगा.

हिंसा और पलायन

इमेज कॉपीरइट EPA

हाल के दिनों में लीबिया और दूसरे देशों में जारी हिंसा की वजह से भूमध्य सागर में होने वाले ऐसी दुर्घटनाओं में इज़ाफ़ा हुआ है. इसे लेकर इटली जैसे यूरोपीय देश ख़ासे परेशान हैं.

यूरोपीय मुल्कों ने पिछले साल फ़ैसला किया था कि वो इस तरह के शरणार्थियों को बचाने के कार्यों में कमी लाएंगे ताकि ऐसे लोगों के विश्व के दूसरे हिस्सों से यूरोप पहुंचने की कोशिश पर लगाम लग सके.

उत्तरी अफ्रीका के देशों से आ रहे शरणार्थियों के सामने भूमध्य सागर पार करने के बाद सबसे पहले इटली ही नज़र आता है और यही वजह है कि उसे इस समस्या की आंच सबसे ज्यादा झेलनी पड़ी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार