आईएस ने किया स्वास्थ्य सेवाओं का विज्ञापन

इस्लामिक स्टेट इमेज कॉपीरइट

इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने अपनी स्वास्थ्य सेवाओं का एक प्रोमोशनल वीडियो ज़ारी किया है. इस वीडियो में आईएस ने अपनी स्वास्थ्य सेवाओं की, ब्रितानी स्वास्थ्य सेवा नेशनल हेल्थ सर्विस (एनएचएस) जैसी ब्रांडिंग की है.

इस वीडियो में एक ऑस्ट्रेलियाई डॉक्टर भी दिख रहा है.

अभी तक इस वीडियो की पुष्टि नहीं की गई है लेकिन इसे आईएस से जुड़े सोशल मीडिया प्रोफ़ाइलों पर शेयर किया जा रहा है.

ब्रितानी स्वास्थ्य सेवा, एनएचएस के नाम और लोगों की तरह आईएस ने अपने स्वास्थ्य सेवा का नाम आईएसएचएस यानी इस्लामिक स्टेट हेल्थ सर्विस रखा है.

महिलाओं के लिए ख़ास सुविधा

इमेज कॉपीरइट PA

वीडियो रक़्क़ा जनरल हॉस्पिटल में शूट किया हुआ जान पड़ता है.

रक़्क़ा, मध्य पूर्व में सीरिया में स्थित आईएस का गढ़ है.

वीडियो में पहला डॉक्टर एक स्वास्थ्य मंत्रालय के गठन की बात कर रहा है जो आईएस के नियंत्रण वाले इलाक़ों में स्वास्थ्य सेवाओं के लिए ज़िम्मेदार होगा. डॉक्टर के मुताबिक रक़्क़ा अस्पताल को दोबारा संवारा गया है.

वीडियो में एक दूसरा डॉक्टर गहन चिकित्सा कक्ष (आईसीयू) से परिचय कराता है जहां सैन्य संघर्षों और कार हादसों में घायल लोगों का इलाज किया जाता है.

इसके बाद एक डॉक्टर एक्स-रे युनिट से परिचय कराता है जहां महिलाओं के लिए अलग युनिट की व्यवस्था है.

वीडियो में की गई है अपील

इमेज कॉपीरइट ap
Image caption इस्लामिक स्टेट ने इराक़ और सीरिया के बड़े हिस्से पर क़ब्ज़ा कर लिया है.

ऑस्ट्रेलियाई डॉक्टर अपना नाम अबू यूसुफ़ बताते हैं और कहते हैं कि वह जिहाद से जुड़ने के लिए ऑस्ट्रेलिया से आये हैं. यूसुफ़ मानते हैं कि स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करना उनके लिए जिहाद का हिस्सा है.

यूसुफ़ कहते हैं, "अगर मैं इस्लामिक स्टेट के साथ और पहले जुड़ पाता तो अच्छा होता."

अबू यूसुफ़ रक़्क़ा में उन्नत तकनीक से लैस बच्चों के वॉर्ड में काम कर रहे हैं.

वे पश्चिम में स्वास्थ्य सेवाओं में लगे डॉक्टरों को भी इस्लामिक स्टेट आने के लिए अपील भी कर रहे हैं.

इस वीडियो में अस्पताल के अलग-अलग हिस्सों को भी दिखाया गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार