इंडोनेशिया: फायरिंग दस्ते ने आठ को गोली मारी

इंडोनेशिया इमेज कॉपीरइट AFP

इंडोनेशिया में अपने दो नागरिकों को ड्रग तस्करी के जुर्म में मौत की सज़ा दिए जाने के बाद ऑस्ट्रेलिया ने वहां से अपने राजदूत को वापस बुला लिया है.

बुधवार सुबह इंडोनेशिया में फायरिंग दस्ते ने कुल आठ लोगों को गोली मार कर मौत की सज़ा पर अमल किया. इनमें ऑस्ट्रेलिया के दो नागरिक भी शामिल हैं.

इस पर ऑस्ट्रेलिया ने नाराज़गी जताते हुए अपने राजदूत को वापस बुला लिया है.

ड्रग तस्करी के मामले में फिलीपीन्स की एक अन्य दोषी महिला की मौत की सज़ा को आख़िरी वक्त रोक दिया गया.

ख़बरों के अनुसार फिलीपीन्स के राष्ट्रपति की तरफ़ से अपील की वजह से सज़ा माफ की गई है.

स्थानीय समयानुसार बुधवार सुबह फायरिंग दस्ते ने इन लोगों को गोली मार दी.

नूसाकाम बागान द्वीप पर मौजूद बेसी जेल में मौत की सज़ा पर अमल किया गया.

ऑस्ट्रेलिया नाराज़

इमेज कॉपीरइट AP

ऑस्ट्रेलिया ने अपने नागरिकों की सज़ा टालने की अपील की थी, जिसके लिए लंबा राजनयिक अभियान भी चलाया गया था.

ऑस्ट्रेलिया ने कहा था कि जिस तरह से इन लोगों के ख़िलाफ केस चलाया गया है वह ग़लत है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

ब्राजील ने मौत की सज़ा के अमल पर 'गहरी निराशा' जाहिर की है. उसके एक नागरिक रोड्रिगो गुलार्ते को मार दिया गया. इनके अलावा सज़ा पाने वालों में नाइजीरिया और इंडोनेशिया के नागरिक शामिल थे.

इन लोगों को 2005 में बाली में 8.2 किलो हेरोइन के साथ पकड़ा गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार