ये है भूकंप से पहले और उसके बाद का नेपाल

  • 29 अप्रैल 2015

नेपाल में पिछले हफ़्ते आए 7.8 तीव्रता के भूकंप से अब तक पांच हज़ार लोगों की मौत हो गई और हज़ारों लोग घायल हो गए.

इस भूकंप से नेपाल की कई एतिहासिक धरोहरों को भी काफ़ी नुकसान हुआ.

इमेज कॉपीरइट afp getty epa

ये है काठमांडू का धरहरा टावर जो भूकंप में ध्वस्त हो गया. इसमें पहली तस्वीर 27 अक्टूबर 1998 की है जबकि दूसरी 26 अप्रैल 2015 की है.

इमेज कॉपीरइट digital globe

काठमांडू घाटी की सात यूनेस्को हेरिटेज साइट्स में से चार को भूकंप से ख़ासा नुकसान हुआ है. काठमांडू के दरबार स्क्वैयर को भी क्षति पहुंची है. यहां 19वीं शताब्दी तक नेपाली राजघराने का आवास था. दरबार स्क्वैयर काठमांडू की 13 फऱवरी 2013 और 27 अप्रैल 2015 की तस्वीरें.

इमेज कॉपीरइट google getty

भूकंप की वजह से कई इमारतें मलबे में तब्दील हो गईं. काठमांडू का दरबार स्क्वैयर. पहली फरवरी 2015 है और दूसरी 27 अप्रैल 2015 की.

इमेज कॉपीरइट unitar Unosat CNES AIRBUS

नौ मंजिला धरहरा टावर की ऊंचाई 60 मीटर थी और इसे 1832 में बनाया गया था. धरहरा टावर का भूकंप के पहले और बाद में सेटेलाइट से लिया गया चित्र.

इमेज कॉपीरइट UNITAR UNOSATCNESAIRBUS

भूकंप के बाद मैदानों और स्टेडियमों में राहत शिविर बनाए गए हैं. अपना घर गंवा चुके लोग यहां आसरा ले रहे हैं. जो लोग घर जाने से डर रहे हैं, उनके लिए भी ये ठिकाना बना हुआ है. काठमांडू स्टेडियम की भूकंप के पहले और बाद में ली गई तस्वीरें.

इमेज कॉपीरइट DIGITALGLOBE

नेपाल के भक्तपुर में भूकंप से आधी से ज़्यादा इमारतों के ध्वस्त होने की ख़बर है. यहां 80 फ़ीसदी मंदिरों को नुकसान हुआ है. भक्तपुर नेपाल की राजधानी काठमांडू के पूर्व में स्थित है. अक्टूबर 2014 और 27 अप्रैल 2015 को ली गई तस्वीरें.

इमेज कॉपीरइट GOOGLE AP

भूकंप से प्रभावित नेपाल की मदद के लिए अंतरराष्ट्रीय बचाव दल और मेडिकल विशेषज्ञ पहुंचे हुए हैं. ये तलाश और राहत अभियान में हिस्सा ले रहे हैं. ये तस्वीरें दरबार स्क्वैयर, भक्तपुर की है जिनमें पहली फरवरी 2015 को ली गई जबकि दूसरी भूकंप के बाद की है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार