सऊदी अरब को मिला नया युवराज

  • 29 अप्रैल 2015
इमेज कॉपीरइट Getty

सऊदी अरब के नए शाह सलमान बिन अब्दुल अजीज़ ने कैबिनेट में बड़ा फेरबदल करते हुए नई पीढ़ी से अपना वारिस चुना है.

शाह सलमान के भतीजे और 55 साल के गृहमंत्री युवराज मोहम्मद-बिन-नएफ़ शाही तख्त के नए उत्तराधिकारी बने हैं.

जबकि शाह के 30 साल के बेटे मोहम्मद-बिन-सलमान को डिप्टी क्राउन प्रिंस (युवराज) बनाया गया है.

78 साल के शाह सलमान जनवरी में अपने सौतेले भाई और शाह अब्दुल्लाह की मौत के बाद शाह बनाए गए थे.

इमेज कॉपीरइट AFP

बीबीसी संवाददाता किम घटास के मुताबिक 55 साल के बिन-नएफ़ को युवराज और मोहम्मद-बिन-सलमान को डिप्टी क्राउन प्रिंस बनाया जाना संकेत करता है कि देश में युवा पीढ़ी पहली बार शासन की अगुआई करने जा रही है.

करीबी रिश्तों के कारण माना जा रहा है कि अमरीका नए वारिस का स्वागत करेगा.

कड़ा रुख

शाह सलमान शासन के अनुभवी सुरक्षा प्रमुख हैं और इस्लामिक चरमपंथियों के ख़िलाफ़ अपने कड़े रुख के लिए जाने जाते हैं.

वे साल 2009 में अल-क़ायदा के जानलेवा हमले में बाल-बाल बचे थे.

इमेज कॉपीरइट Getty

नए डिप्टी क्राउन प्रिंस मोहम्मद-बिन-सलमान ने भी सऊदी के नेताओं के बीच तेज़ी से अपनी पहचान बनाई है.

उन्हें जनवरी में रक्षा मंत्री नियुक्त किया गया था. पिछले महीने उनकी देखरेख में यमन के ख़िलाफ़ सऊदी अरब के नेतृत्व में अभियान चलाया गया था.

मज़बूत विदेश नीति

क्षेत्रीय प्रतिद्वंद्वी ईरान को पीछे धकेलने के लिए शाह सलमान मुखर और मज़बूत विदेश नीति अपनाते रहे हैं.

नई नियुक्तियों को इसी दिशा में एक कदम माना जा रहा है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

कैबिनेट में फेरबदल करते हुए कई और नियुक्तियां की गईं.

क़रीब चार दशकों से सेवा में नियुक्त विदेश मंत्री सउद-अल-फ़ैसल की जगह अमरीका में सऊदी अरब के राजदूत अदेल-अल-ज़ुबैर को नियुक्त किया गया है.

सऊद-अल-फैसल 75 साल के हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं. )

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार