अदालत ने एनएसए की जासूसी को अवैध बताया

जासूसी इमेज कॉपीरइट Getty

अमरीका की एक अदालत ने कहा है कि राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनएसए) का फ़ोन रेकार्ड इकट्ठा करना ग़ैर-क़ानूनी है.

2013 के एक फ़ैसले को पलटते हुए जजों ने एनएसए के फ़ोन डाटा को इकट्ठा करने के कार्यक्रम को रोकने का आदेश तो नहीं दिया लेकिन सरकार से इस पर फ़ैसला लेने के लिए कहा है.

एनएसए के जासूसी कार्यक्रम को भगौड़े कर्मचारी एडवर्ड स्नोडेन ने सबसे पहले जून 2013 में सार्वजनिक किया था. स्नोडेन फिलहाल रूस में रह रहे हैं.

जासूसी कार्यक्रम के तहत एनएसए कॉल किए गए नंबरों और कॉल के समय के बारे में जानकारी इकट्ठा करती है. हालांकि वो बातचीत रिकॉर्ड नहीं करती है.

इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption एनएसए के भगौड़े कर्मचारी एडवर्ड स्नोडेन ने जासूसी कार्यक्रम को सार्वजनिक किया था.

एनएसए पर कई यूरोपीय कंपनियों के फ़ोन रेकॉर्ड करने के भी आरोप लगे हैं.

एनएसए के इस जासूसी कार्यक्रम के तहत जर्मनी की चांसलर एंगेला मर्केल की भी जासूसी की गई थी.

सरकार लेगी फ़ैसला

अपने आदेश में अदालत ने कहा कि चरमपंथी वारदातों को रोकने के लिए यूएसए पेट्रॉयट एक्ट के तहत दस्तावेज़ इकट्ठा करने के अधिकार के तहत लोगों के कॉल रेकॉर्ड करने को क़ानूनी नहीं ठहराया जा सकता हालांकि न्यूयॉर्क की सेकंड़ यूएस सर्किट कोर्ट ऑफ़ अपील ने सितंबर 2001 हमले के बाद शुरू किए गए इस कार्यक्रम को रोकने का आदेश नहीं दिया.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption नागरिक संगठन जासूसी कार्यक्रम का विरोध कर रहे हैं.

एडवर्ड स्नोडेन के जासूसी कार्यक्रम को सार्वजनिक करने के बाद अमरीका को अंतरराष्ट्रीय आलोचना का सामना करना पड़ा था.

अमरीका कहता रहा है कि यह कार्यक्रम पूरी तरह अधिकृत है. इस कार्यक्रम को अधिकृत करने वाली नेशनल सिक्योरिटी कोर्ट की अनुमति 1 जून को समाप्त हो रही है.

अब सरकार को फ़ैसला लेना है कि वो इस कार्यक्रम को जारी रखती है या नहीं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार