सूटकेस में रखकर 'बच्चे की तस्करी'

सूटकेस में आठ साल के बच्चा की तस्करी इमेज कॉपीरइट BBC World Service

स्पेन की पुलिस का कहना है कि आइवरी कोस्ट के एक आठ वर्षीय बच्चे को सूटकेस में रख कर तस्करी के ज़रिए स्पेन में लाया गया है.

इस बच्चे का नाम अबोयू है, जिसे 19 वर्षीय एक महिला अपने सूटकेस में रख कर मोरक्को से स्पेन के सेउता शहर में लाई.

सेउता मोरक्को के पास स्थित स्पेन का इलाक़ा है, जहां गुरुवार को सूटकेस में इंसानी तस्करी का ये अनूठा मामला सामने आया.

स्पेन के सुरक्षा बल गार्डिया सिविल के एक प्रवक्ता ने समाचार एजेंसी एएफ़पी को बताया कि जब उन्होंने सूटकेस को खोला था उसमें बच्चे को बहुत ही 'दयनीय स्थिति' में पाया.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

अब इस बच्चे को सेउता में अधिकारियों की निगरानी में रखा गया है.

रिश्तेदार नहीं

स्पेन के अख़बार 'एल पैस' ने ख़बर दी है कि 19 वर्षीय महिला इस लड़के की कोई रिश्तेदार नहीं है और उसे लड़के के पिता ने सूटकेस ले जाने के लिए पैसे दिए थे.

अख़बार के मुताबिक लड़के के पिता स्पेन के ही कैनेरी द्वीप पर रहते हैं और इस तरह उन्होंने बेटे को अपने पास बुलाने की योजना बनाई थी.

बताया जाता है कि लड़के के पिता अपने बेटे को लेने के लिए आइवरी कोस्ट गए थे और उन्होंने मोरक्को की एक कुरियर कंपनी से इस सूटकेस को ले जाने को कहा.

पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि सूटकेस में लड़के के आने के एक-डेढ़ घंटे बाद उसके पिता स्पेन के अधिकारियों के सामने पहुंचे. लेकिन इससे पहले ही अबोयू को हिरासत में लिया जा चुका था.

ग़ैर क़ानूनी प्रवेश

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption हर साल हज़ारों लोग बाड़ को फांद कर सेउता और मेलिला में ग़ैर क़ानूनी रूप से दाख़िल होते हैं

मानवाधिकार संगठन ह्यूमन राइट्स वॉच का कहना है कि 2013 में 4,300 लोग सेउता और एक अन्य स्पेनिश इलाके मेलिला में ग़ैर क़ानूनी रूप से दाख़िल हुए थे जबकि 2012 में ये संख्या 2,804 थी.

सेउता और मेलिला भूमध्य सागरीय तट पर बसे शहर हैं जो तीन तरफ़ से मोरक्को से घिरे है.

स्पेन का कहना है कि ये इलाके उसके अटूट हिस्से हैं जबकि मोरक्को इन पर अपनी संप्रभुता का दावा करता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)