हवाना के दौरे पर ओलांद, कास्त्रो से मिले

इमेज कॉपीरइट AP

फ़्रांस के राष्ट्रपति फ़्रांस्वा ओलांद ने हवाना की अपनी ऐतिहासिक यात्रा के दौरान क्यूबा के क्रांतिकारी नेताओं फ़िदेल और राउल कास्त्रो से मुलाक़ात की है.

ओलांद ने दशकों से क्यूबा के ख़िलाफ़ लगे अमरीकी व्यापार प्रतिबंध को ख़त्म करने की बात भी कही. उन्होंने कहा कि इस प्रतिबंध से इस द्वीप के विकास पर काफी बुरा असर पड़ा है.

1898 के बाद ओलांद फ़्रांस के पहले राष्ट्रपति हैं जो क्यूबा की यात्रा पर गए हैं. इसके अलावा वह पश्चिमी देशों के पहले नेता भी हैं जो 1980 के दशक के बाद क्यूबा की यात्रा पर गए.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption 88 साल के फ़िदेल कास्त्रो सार्वजनिक तौर पर कम ही देखे जाते हैं.

फ्रेंच अख़बार 'लिबरेशन' के एक पत्रकार लौरे ब्रेतो के मुताबिक़ ओलांद और फ़िदेल कास्त्रो ने क़रीब एक घंटे तक बात की. ब्रेतो ने इस बैठक के बाद ट्वीट किया था.

ऐतिहासिक मुलाक़ात

इमेज कॉपीरइट AFP
इमेज कॉपीरइट EPA
इमेज कॉपीरइट EPA

ओलांद ने इस पत्रकार को बताया, "मैं एक ऐसे शख्स के सामने था जिसने इतिहास बनाया." बाद में उन्होंने फ़िदेल के भाई और वर्तमान राष्ट्रपति राउल कास्त्रो से मुलाकात की.

हवाना विश्वविद्यालय में सोमवार को ओलांद ने कहा कि फ्रांस यह सुनिश्चित करेगा कि जिन क़दमों से क्यूबा के विकास को नुकसान पहुंचा है उसे आख़िरकार रद्द किया जाए.

वह अमरीका के व्यापार प्रतिबंधों की बात कर रहे थे जिस पर अब भी अमल किया जा रहा है.

हालांकि अमरीका और क्यूबा के संबंधों में हाल के महीनों में सुधार हुआ है.

दिसंबर में क्यूबा और अमरीका के बीच कूटनीतिक संबंधों के सामान्य होने की घोषणा की गई थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)