बॉस्टन धमाके के दोषी को मौत की सज़ा

इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीका में एक जूरी ने बॉस्टन में हुए धमाके के दोषी जोख़ार सारनाएव को मौत की सज़ा सुनाई है.

पांच पुरूषों और सात महिलाओं वाली इस जूरी ने 14 घंटे की चर्चा के बाद ये फ़ैसला किया.

बॉस्टन में 2013 की मैराथन के दौरान फिनिश लाइन के पास धमाका हो जाने से तीन लोग मारे गए थे जबकि 260 घायल हो गए थे.

सारनाएव और उनके भाई पर फिनिश लाइन के पास बम रखने का आरोप था.

सारनाएव को फरवरी में हमले से जुड़े अलग अलग 30 आरोपों में दोषी करार दिए गया था.

कर सकते हैं अपील

इमेज कॉपीरइट

इनमें सात आरोप ऐसे भी हैं जिनमें दोषी ठहराए जाने पर मौत की सज़ा दिए जाने की संभावना भी शामिल है.

बचाव पक्ष के वकील जूरी के फ़ैसले के ख़िलाफ़ अपील कर सकते हैं.

जब ये फ़ैसला सुनाया जा रहा था तो अदालत में मौजूद पीड़ित और उनके परिवारों की आंखों में आंसू थे.

वहीं सारनाएव ने अपना सिर नीचे झुका रखा था लेकिन उनके चेहरे पर किसी तरह के भाव नहीं थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और टविटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)