मोबाइल पीछे तो एक्ज़ाम रिज़ल्ट आगे

लंदन में मोबाइल पाबंदी

स्कूलों में मोबाइल के इस्तेमाल पर पाबंदी लगाने से बच्चों की परीक्षा के नतीजे बेहतर हो सकते हैं.

लंदन स्कूल ऑफ इकोनोमिक्स का अध्ययन कहता है कि यदि मोबाइल को स्कूल से दूर रखा जाए तो इससे एक साल में सात दिनों की पढाई के बराबर फ़ायदा होता है.

लंदन स्कूल ऑफ इकोनोमिक्स ने इंग्लैंड के चार शहरों- लंदन, मैनचेस्टर, लीसेस्टर और बर्मिंघम में मोबाइल फ़ोन पर पाबंदी के पहले और बाद की स्थितियों का जायज़ा लिया.

पाया गया कि जिन स्कूलों में बच्चों के मोबाइल पर रोक लगी वहां परीक्षा के नतीजे 6 फ़ीसदी बेहतर हुए.

इमेज कॉपीरइट THINKSTOCK

अध्ययन इस बात का भी दावा करता है कि मोबाइल पर रोक लगाने से सबसे ज्यादा फ़ायदा, वंचित और गरीब परिवार के बच्चों को हुआ.

अध्ययन कहता है, "मोबाइल फ़ोन के कारण स्कूल में कम सुविधा वाले परिवार के बच्चों का ध्यान उन बच्चों के मुकाबले क्लास में पढ़ाई से अधिक हटता है जो सुविधा संपन्न परिवारों से आते हैं."

किशोरों के पास मोबाइल फोन

इमेज कॉपीरइट

ब्रिटेन में 90 फीसदी से अधिक किशोरों के पास मोबाइल फोन है.

शोध का नेतृत्व करने वाले लुईस फिलिप बेलंद और रिचर्ड मर्फी का कहना है कि नई मोबाइल तकनीक के अनेक फायदों के बावजूद यह एकाग्रता और पढ़ाई के लिए नुकसानदेह साबित हुआ है.

उनका कहना है, "हमने पाया कि मोबाइल फोन से दूरी बनाने से बच्चों को स्कूल के भीतर एक हफ़्ते में एक घंटा और साल में पांच दिन की पढ़ाई का फायदा हुआ."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं. )

संबंधित समाचार