समुद्र में फंसे लोगों को मिला किनारा

  • 20 मई 2015
प्रवासी इमेज कॉपीरइट AP

समुद्र में फंसे लगभग 7,000 प्रवासियों को अस्थायी शरण देने के लिए मलेशिया और इंडोनेशिया के प्रयासों में थाईलैंड भी शामिल हो गया है.

इस पहल की शुरुआत मलेशिया और इंडोनेशिया ने की थी. इसके लिए हुई बैठक में इन तीनों देशों के विदेश मंत्रियों ने हिस्सा लिया था.

शुरुआत में थाईलैंड इस मुहिम में शामिल नहीं हुआ लेकिन बाद में विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा कि वो भी इसमें अपना योगदान देगा.

इन तीनों देशों की इस पहल के लिए समुद्र में फंसे लोगों को एक वर्ष की भीतर कहीं और बसाया जाना है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

इनमें से अधिकतर लोग म्यांमार के रोहिंग्या मुसलमान और बांग्लादेश के लोग हैं.

अभी तक ये स्पष्ट नहीं है कि कौन इन्हें अपने यहां जगह देगा.

बहरहाल मलेशिया, इंडोनेशिया और थाईलैंड की पहल का संयुक्त राष्ट्र की एजेंसियों ने स्वागत किया है.

संयुक्त राष्ट्र की एजेंसियों का कहना है कि इन प्रवासियों को फौरन चिकित्सकीय मदद की ज़रूरत है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार