हागेसा की महिलाएं

हरगेसा की महिलाएं इमेज कॉपीरइट Other

फ़ोटोग्राफ़र एलिसन बास्करविले हाल ही में सोमालीलैंड के हागेसा से लौटी हैं. वहाँ की महिलाओं ने उन्हें बहुत प्रभावित किया. कुछ महिलाएं अस्पतालों में काम कर रही हैं तो कुछ अपने व्यापार चला रही हैं.

एडना अदनान इस्लाइल को सोमालिया कि प्रथम महिला कहा जाता है और जब 1991 में सोमालीलैंड ने ख़ुद को आज़ाद घोषित किया तो वे सरकार में मंत्री थीं. हालांकि सोमालीलैंड की आज़ादी को अंतरराष्ट्रीय मान्यता नहीं मिली है.

इमेज कॉपीरइट Other

वे सोमालीलैंड की विदेश मंत्री बनीं और उन्होंने 2002 में एडना अदनान यूनिवर्सिटी अस्पताल शुरू किया जो मेटरनिटी शिक्षा देने वाला इस क्षेत्र का इकलौता अस्पताल है.

इमेज कॉपीरइट Other

वे महिलाओं में ख़तने की पृथा का खुलकर विरोध करती हैं और इसके ख़िलाफ़ जागरुकता अभियान भी चलाती हैं.

इमेज कॉपीरइट Other

अंतरराष्ट्रीय डॉक्टर भी अस्पताल में स्वयंसेवा करते हैं जिससे महिलाओं को विशेष स्वास्थ्य सेवाएं मिल पाती हैं. अस्पताल में 'दिमाग़ में पानी' की बीमारी से पीड़ित दो सौ बच्चों का ऑपरेशन भी किया जा चुका है.

इमेज कॉपीरइट Other

यहाँ कटे होंटों का भी फ़्री ऑपरेशन किया जाता है.

अस्पताल से दूर बास्करविले ने एक शादी की भी तस्वीरें खींची.

इमेज कॉपीरइट Other

उनका कहना है, "सार्वजनिक स्थानों पर महिलाएं पारंपरिक बुर्के में पूरी ढकी रहती हैं. लेकिन बंद दरवाजों के पीछे वे चटक रंग की पोशाकें पहनती हैं और अपना मेकअप और सँवरे बाल खुलकर दिखाती हैं."

इमेज कॉपीरइट Other

बास्करविले ने हागेसा में अपना व्यापार चलाने वाली सारा हाजी की भी तस्वीर खींची. उन्होंने इतालवी काफ़ी हाऊस शुरू किया है.

हाजी को शुरू में दिक़्क़तों का सामना करना पड़ा. वे कहती हैं कि मैं सामाजिक रुकावटों को लांघना चाहती थी.

इमेज कॉपीरइट Other

हाजी ब्यूटी पार्लर भी खोलना चाहती हैं. उनके काफ़ी हाऊस में आने वाली मोला और लैला को यहां बजने वाला संगीत और यहाँ की साज सज्जा पसंद हैं.

इमेज कॉपीरइट Other

सागाल ओलाड शहर के जीगा यार इलाक़े में द रॉयल लाउंज रेस्त्रां चलाती हैं.

पाँच बच्चों की अकेली माँ सागाल कहती हैं कि उन्होंने इस रेस्त्रां की एक-एक ईंट ख़ुद रखी है.

इमेज कॉपीरइट Other

वे कहती हैं कि अपने पुरुष कर्मचारियों से काम करवाना मुश्किल था लेकिन कुछ महीनों की मेहनत के बाद हमने शहर में 'अपना महल' बना लिया.

मोगादिशू में पैदा हुई और लंदन में पली-बढ़ी ओलाड कहती हैं, "मैं अपने जीवन में कुछ करना और अपने बच्चों के लिए एक उदाहरण बनना चाहती थी. और इसलिए मैंने हरगेसा आकर कुछ अपना करने की ठानी."

इमेज कॉपीरइट Other

एलिसन बास्करविले की तस्वीरें जुलाई में हरगेसा में होने वाले वुमन ऑफ़ द वर्ल्ड फ़ेस्टिवल में दिखाई जाएंगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)