कार्टून प्रतियोगिता में दिखा आईएस का क्रूर चेहरा

कार्टून इमेज कॉपीरइट Other

ईरान में एक अंतरराष्ट्रीय कार्टून प्रतियोगिता आयोजित की गई जिसका विषय है चरमपंथी संगठन इस्लामिक स्टेट और उसके द्वारा किए गए अपराध.

ईरान के अंग्रेजी टीवी चैनल प्रेस टीवी के मुताबिक़, इस प्रतियोगिता का आयोजन ईरानी संस्था ‘हाऊस ऑफ़ कार्टून्स’ ने किया है.

टीवी में दिखाए गए कुछ कार्टूनों में पश्चिमी देशों, खासकर अमरीका को इस्लामिक स्टेट और उसके किए अपराधों के समर्थक के रूप में दिखाया गया है.

इमेज कॉपीरइट Other

हाऊस ऑफ़ कार्टून्स के प्रमुख और प्रतियोगिता की ज्यूरी के सदस्य मसूद शूजा एई ताबाताबाई ने ईरानी टीवी को बताया, “इस्लामिक स्टेट के बारे में सच्चाई बताने के लिए हमने इस प्रतियोगिता को आयोजित करने का फ़ैसला किया और लोगों ने भी अपने कार्टून और कैरिकेचर भेजे हैं.”

उनके मुताबिक, “इस्लामिक स्टेट खुद को इस्लाम के साथ जोड़ने की कोशिश करता है, लेकिन उसे इस्लाम के बारे में बिल्कुल भी नहीं पता.”

उन्होंने कहा, "प्रतियोगिता के लिए आईं अधिकांश कृतियां ‘बेहतरीन’ हैं और मुझे लगता है कि कैरिकेचर बनाने वाले कलाकारों ने बहुत बढ़िया काम किया है.”

डर के मारे 'उपनाम'

इमेज कॉपीरइट Other

मसूद के अनुसार, “यह संस्था इसी तरह की प्रदर्शनी इराक़, लेबनान और सीरिया में भी आयोजित करेगी.”

प्रेस टीवी के संवाददाता के मुताबिक़, “इस चरमपंथी संगठन से प्रभावित देशों के लोगों के लिए इस प्रतियोगिता में हिस्सा लेना आसान नहीं था. सीरिया और इराक़ जैसे देशों के बहुत से लोग इस बात से डर रहे थे कि उन्हें तकफ़ीरी (मुसलमान जो दूसरे मुसलमानों पर सवाल उठाए) चरमपंथी संगठन मार डालेगा.”

इमेज कॉपीरइट Other

तेहरान टाइम्स अख़बार ने इस प्रतियोगिता के उप प्रमुख मोहम्मद हबीबी के हवाले से कहा, “इस प्रतियोगिता में हिस्सा लेने वाले कुछ विदेशी कार्टूनिस्ट सुरक्षा कारणों से अपना उपनाम इस्तेमाल कर रहे हैं.”

हबीबी ने ईरान प्रेस टीवी को बताया, “आजकल, दुनिया में हर कोई इस्लामिक स्टेट नामक परजीवी और मानवता के ख़िलाफ़ उसके किए गए अपराधों से परिचित है. अब कलाकारों की ज़िम्मेदारी है कि इस तरह के आयोजनों में शामिल होकर इस संगठन के बारे में लोगों को जागरूक करें.”

प्रदर्शनी

इमेज कॉपीरइट Other

रिपोर्ट में आईएस के नीमरुद, मोसुल और हातरा में ऐतिहासिक कलाकृतियों के तोड़फ़ोड़ का भी ज़िक्र है.

ईरानी मीडिया के अनुसार, इंग्लैंड, पेरू, इटली, क्यूबा, फ़्रांस, ऑस्ट्रेलिया और अन्य देशों से आईं कुल 800 कलाकृतियों में से 280 को चुना गया है.

चुनी गई कलाकृतियों को तेहरान में लगने वाली एक प्रदर्शनी में रखा जाएगा. यह प्रदर्शनी 31 मई तक चलेगी और इसी दिन विजेताओं की घोषणा होगी.

इमेज कॉपीरइट Other

इसी साल फ़रवरी में, हाउस ऑफ़ कार्टून्स ने नरसंहार विरोधी कार्टून प्रतियोगिता आयोजित करने की घोषणा की थी.

कहा जा रहा है कि शार्ली एब्दो मैगज़ीन में पैगम्बर मोहम्मद पर कार्टून प्रकाशित किए जाने के बाद इस तरह की प्रतियोगिता आयोजित की गई.

(बीबीसी मॉनिटरिंग दुनिया भर के टीवी, रेडियो, वेब और प्रिंट माध्यमों में प्रकाशित होने वाली ख़बरों पर रिपोर्टिंग और विश्लेषण करता है. आप बीबीसी मॉनिटरिंग की ख़बरें ट्विटर और फेसबुक पर भी पढ़ सकते हैं.)(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार