अमरीकी मांग को चीन ने किया ख़ारिज

  • 31 मई 2015
साउथ चाइना सी में टापू इमेज कॉपीरइट AFP

चीन ने साउथ चाइना सी में टापू बनाने के काम पर रोक लगाने की अमरीका की मांग ठुकरा दी है.

चीन के एक शीर्ष सैन्य कमांडर सुन जियांग्यो ने कहा है कि ऐसा करके वो अपनी संप्रभुता को लागू कर रहा है और दुनिया की मदद कर रहा है.

उन्होंने ये बात सिंगापुर में सुरक्षा पर जारी शांग्री-ला वार्ता में कही.

'व्यवस्था बेहतर करने का इरादा'

समाचार एजेंसी एएफ़पी के मुताबिक़, कमांडर जियांग्यो ने कहा, ''चीन ने साउथ चाइना सी के कुछ टापुओं और समुद्र के कुछ हिस्सों पर निर्माण का जो काम किया है वो उन जगहों की व्यवस्था, वहां काम कर रहे और रहने वाले लोगों के हालात बेहतर करने के इरादे से किए गए हैं.''

इमेज कॉपीरइट

क्षेत्र में मौजूद वियतनाम, मलेशिया, ताइवान, फिलिपींस और दूसरे मुल्क चीन की गतिविधियों पर सवाल खड़े करते रहे हैं.

इनमें से कई देशों ने क्षेत्र में कृत्रिम टापू तैयार कर लिए हैं.

अमरीका को लगता है कि चीन इस तरीक़े से क्षेत्र में अपने प्रभाव को और बढ़ाना चाहता है.

हथिया रहे ज़मीन

इमेज कॉपीरइट AP

अमरीकी रक्षा मंत्री एश्टन कार्टर ने शनिवार को कहा था कि चीन की कार्रवाई अंतरराष्ट्रीय नियमों के ख़िलाफ़ है और क्षेत्रीय शांति के लिए ज़रूरी है कि वो कृत्रिम टापू नहीं बनाए.

कार्टर ने दावा किया था कि चीन ने 2,000 एकड़ से अधिक इलाक़े में 'रिक्लेमेशन' का काम किया है.

उनका कहना था कि ये हिस्सा उससे भी ज़्यादा है जो दूसरे सभी दावेदारों ने मिलकर हथिया लिया है.

साउथ चाइना सी समुद्री परिवहन के हिसाब से एक अहम मार्ग है. समझा जाता है कि वहां तेल और गैस के भंडार हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार