जी-7 नेता रूस पर प्रतिबंधों पर राज़ी

जी-7 सम्मेलन इमेज कॉपीरइट BPA Germany

जर्मनी में हुए जी-7 देशों के सम्मेलन में रूस पर प्रतिबंध जारी रखने पर सहमति बन गई है.

जर्मनी की चांसलर एंगेला मर्केल ने कहा है कि जी-7 देश के नेता पूर्वी यूक्रेन में संघर्षविराम लागू होने तक रूस पर प्रतिबंध जारी रखने पर सहमत हो गए हैं.

दो दिवसीय सम्मेलन के समाप्त होने पर बोलते हुए एंगेला मर्केल ने कहा कि ज़रूरत पड़ने पर जी-7 देश प्रतिबंध और कड़े करने के लिए भी तैयार हैं.

वहीं अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भी कहा है कि रूस पर प्रतिबंध तब तक जारी रहेंगे जब तक रूस यूक्रेन मुद्दे पर शांति समझौते को पूरी तरह लागू नहीं करेगा.

रूस इस सम्मेलन में शामिल होता रहा है लेकिन पिछले साल क्राइमिया पर क़ब्ज़ा करने के बाद रूस को इस सम्मेलन में शामिल नहीं किया गया.

मुद्दे

Image caption इस साल के सम्मेलन में व्लादीमीर पुतिन को शामिल नहीं किया गया.

जी-7 सम्मेलन के दौरान पूर्वी यूक्रेन में जारी संघर्ष, ग्रीस के क़र्ज़ संकट और जलवायु परिवर्तन के मुद्दे पर चर्चा हुई.

ग्रीस क़र्ज़ संकट पर एंगेला मर्केल ने कहा कि ग्रीस को और पैसा देने के लिए समझौता करने करने के लिए ज़्यादा वक़्त नहीं बचा है.

उन्होंने कहा कि ग्रीस को अपनी वित्तीय स्थिति मज़बूत करने के लिए क़दम उठाने की ज़रूरत है.

सम्मेलन में चरमपंथ के बढ़ते ख़तरे पर भी चर्चा की गई.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार