43 साल एकांतवास के बाद रिहाई

अलबर्ट वुडफॉक्स इमेज कॉपीरइट CORTESIA ANGOLA3.ORG

अमरीका में लुईज़ियाना की एक अदालत ने चालीस साल से ज़्यादा से एकांतवास की सज़ा काट रहे एक क़ैदी को रिहा करने के आदेश दिए हैं.

जज जेम्स ब्रेडी ने अभियोजकों को 68 वर्षीय अलबर्ट वुडफॉक्स के ख़िलाफ़ तीसरी बार मामला चलाने से भी रोक दिया है.

अलबर्ट वुडफॉक्स 18 अप्रैल 1972 से जेल में एकांतवास में थे.

जेल में हुए उपद्रव में एक गार्ड की मौत के बाद उन्हें एकांतवास में डाल दिया गया था.

उन पर दो बार गार्ड की हत्या के आरोप में मामला चला और उन्हें दोषी पाया गया. हालांकि बाद में दोनों ही बार उन्हें आरोपों से बरी कर दिया गया.

वे ख़ुद पर लगे आरोपों को नकारते रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption एक अनुमान के मुताबिक अमरीका में क़रीब 80 हज़ार क़ैदी एकांतवास में रखे गए हैं.

अदालती दस्तावेज़ों के मुताबिक उन्हें रोज़ाना 23 घंटे अपनी कोठरी में बंद रखा जाता था और दिन में सिर्फ़ एक ही घंटे ही उनकी कोठरी के बाहर टहलने दिया जाता था.

उन्हें सप्ताह में सिर्फ़ तीन बार ही व्यायाम करने दिया जाता था जबकि निजी चीज़ें, पढ़ने की सामग्री, क़ानूनी मदद और मुलाक़ातें प्रतिबंधित थीं.

सोमवार को जज ने उनकी बिना शर्त रिहाई के आदेश दिए और कहा कि उन पर तीसरी बार मामला चलाना सही नहीं होगा.

वुडफॉक्स को लूट के मामले में गिरफ़्तार किया गया था.

इमेज कॉपीरइट Other
Image caption अलबर्ट वुडफ़ॉक्स, रॉबर्ट किंग और हर्मन वॉलेस की क़ैद के मामला एक अंतरराष्ट्रीय न्याय अभियान के केंद्र में रहा है.

लेकिन लुईज़ियाना के एटार्नी जनरल के प्रवक्ता ने कहा है कि अभियोजक फ़ैसले के ख़िलाफ़ अपील करेंगे 'ताक़ि यह क़ातिल जेल ही में रह सके.'

वुडफॉक्स उन तीन क़ैदियों में शामिल हैं जिन्हें अति सुरक्षित जेल लुईज़ियाना स्टेट पेनिटेनशियरी में एकांतवास में रखा गया था.

इस जेल को अंगोला थ्री भी कहा जाता है क्योंकि ये अंगोला के नाम से चर्चित पूर्व स्लेव प्लांटेशन के सामने स्थित है.

बाक़ी दो क़ैदी रॉबर्ट किंग और हर्मन वॉलेस थे जिन्हें 2001 और 2013 में रिहा कर दिया गया था. वॉलेस की रिहाई के कुछ दिन बाद ही मौत हो गई थी जबकि किंग को दोषमुक्त कर दिया गया था.

किंग और वॉलेस को भी पहले लूट के आरोपों में गिरफ़्तार किया गया था.

इमेज कॉपीरइट Angola3.org

वुडफ़ॉक्स और वॉलेस काले लोगों के अधिकारों की लड़ाई लड़ने वाले चरमपंथी समूह ब्लैक पैंथर्स से जुड़े थे.

यह समूह काले लोगों पर पुलिस की बर्बरता और नस्लवाद के ख़िलाफ़ आत्मरक्षा के लिए 1966 में बना था.

वुडफ़ॉक्स, वॉलेस और किंग लगातार ये कहते रहे थे कि उन्हें झूठे आरोपों में फँसाया गया था.

तीन साल पहले बीबीसी को दिए साक्षात्कार में 29 साल एकांतवास के अनुभव के बारे में बताते हुए किंग ने कहा था कि वे मज़बूत बने रहे लेकिन मानवीय संपर्क से दूर रहना डराने वाला था.

ये तीनों क़ैदी एक अंतरराष्ट्रीय न्याय अभियान के केंद्र में रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)