भ्रष्टाचारः चीन में 'केजरीवाल का प्रयोग'

भ्रष्टाचार ऐप, चीन इमेज कॉपीरइट

चीन ने भ्रष्टाचार से निपटने के लिए अपने सरकारी मोबाइल ऐप में भ्रष्टाचार की शिकायत वाला एक नया फ़ीचर जबसे जोड़ा है, शिकायतों की संख्या तेजी से बढ़ी है.

हालांकि इस ऐप की सोशिल मीडिया पर खिल्ली उड़ाई जा रही है लेकिन साथ ही कुछ लोग इस मुहिम का समर्थन कर रहे हैं.

इस ऐप को कम्युनिस्ट पार्टी के सेंट्रल कमीशन (अनुशासन) द्वारा चलाया जाता है.

चीन की सरकारी न्यूज़ एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक़, 'अनुशासन तोड़ने वाले' पार्टी के सदस्यों के ख़िलाफ़ लोग लिखित शिकायत कर सकते हैं या सुबूत के तौर पर वीडियो अपलोड कर सकते हैं.

कमीशन का कहना है कि इस नई सुविधा से भ्रष्टाचार की शिकायतों में तेजी से इजाफ़ा हुआ है.

पहले एक दिन में औसत 300 मामले आते थे जो बढ़कर प्रतिदिन 1000 से ज़्यादा हो गए हैं.

भ्रष्टाचार

इमेज कॉपीरइट

कमीशन के एक अधिकारी ने शिन्हुआ के हवाले से कहा है, "कभी कभी तो हम एक मिनट में तीन शिकायतें प्राप्त करते हैं."

इस ऐप का इस्तेमाल करने वाला कोई भी अनियमितता की 11 श्रेणियों में से किसी श्रेणी के तहत शिकायत दर्ज कर सकता है.

पार्टी अधिकारियों द्वारा, महंगे रेस्त्रां में भोजन करना या खर्चीली शादी या अंतिम संस्कार आयोजित करने जैसी चीजें इन श्रेणियों में शामिल हैं.

एक व्यक्ति ने आलिशान स्थानीय सरकारी इमारत की तस्वीर डाल दी, जो पार्टी की मितव्ययिता नीति का एक तरह से उल्लंघन है.

इमेज कॉपीरइट AP

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग, साल 2012 में जबसे सत्ता में आए हैं, तभी से भ्रष्टाचार विरोधी अभियान चला रहे हैं.

उन्होंने स्पष्ट किया है कि वो बाघों और बकरियों दोनों को पकड़ना चाहते हैं, यानी नीचे और ऊंचे स्तर के अधिकारी.

साइना वीबो पर एक व्यक्ति का कहना है, "कौन असली गुनहगारों के बारे में शिकायत करेगा. यह बहुत ख़तरनाक़ है, इससे कुछ नहीं निकलेगा."

जबकि एक व्यक्ति ने कहा कि, "मैं दोनों हाथों से ताली बजाते हुए स्वागत करता हूं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार