ट्यूनीशियाई मिशन में कर्मचारियों को बनाया बंधक

इमेज कॉपीरइट Reuters

ट्यूनीशिया के विदेश मंत्रालय का कहना है कि कुछ हथियारबंद लोगों ने लीबिया की राजधानी त्रिपोली में ट्यूनीशिया के वाणिज्य दूतावास पर हमला कर दिया है.

हथियारबंद लोगों ने 10 कर्मचारियों को बंधक बनाया हुआ है. ये स्पष्ट नहीं है कि इसमें कौन सा गुट शामिल है.

ट्यूनीशियाई अधिकारियों के मुताबिक कर्मचारियों को छुड़ाने के लिए हर संभव कोशिश की जाएगी.

2011 में नैटो के अभियान में पूर्व नेता मुआमर गद्दाफ़ी के हटाए जाने के बाद से ही लीबिया में कलह मची हुई है.

ट्यूनीशियाई प्रधानमंत्री के कार्यालय के मुताबिक स्थिति से निपटने के लिए एक विशेष सेल बनाया गया है.

राजनीतिक अस्थिरता

त्रिपोली में एक अधिकारी ने बीबीसी को बताया कि इस छापे में आठ वाहन शामिल थे.

लीबिया में मीलिशया गुटों के समर्थन से सरकार चल रही है जिसे अंतरराष्ट्रीय समुदाय का समर्थन हासिल नहीं है.

कुछ महीने पहले ही ट्यूनीशिया ने त्रिपोली में दोबारा अपना वाणिज्य दूतावास खोला है. बीबीसी संवाददाता राना जवाद ने बताया कि सुरक्षा कारणों से ज़्यादातर देशों ने अपने वाणिज्य दूतावास बंद कर दिए थे.

लीबिया की चुनी हुई संसद और सरकार को सुरक्षा कारणों से पूर्वी शहर तोबरुक स्थानांतरित होना पड़ा था. उसके बाद से ही संयुक्त राष्ट्र लीबिया में राजनीतिक सुलह सफ़ाई कराने की कोशिश कर रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)