आईएस को खदेड़ने की कुर्द बलों की कोशिश

इमेज कॉपीरइट Reuters

आज जिन ख़बरों पर नज़र है उनमें ग्रीस के क़र्ज़ संकट पर चर्चा, क़ुर्द बलों की तल अबयाद को इस्लामिक स्टेट के कब्ज़े से छुड़ाने की कोशिश, हांगकांग और म्यांमार में प्रदर्शन अहम हैं.

ग्रीस क़र्ज़ संकट

इमेज कॉपीरइट AFP

ग्रीस और उसके क़र्ज़दाताओं अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष और यूरोपीय संघ के बीच ब्रसेल्स में वार्ता चल रही है. दोनों पक्ष किसी समझौते पर पहुँचने की कोशिश कर रहे हैं ताक़ि ग्रीस अपना 1.5 अरब यूरो का क़र्ज़ लौटा सके और न दे पाने की स्थिति में नकारात्मक नतीजों से बच सके. यूरोपीय संघ के अधिकारियों ने शुक्रवार को ग्रीस के क़र्ज़ न लौटा पाने की चिंता ज़ाहिर की थी. इसके बाद ग्रीस के प्रधानमत्री एलेक्सिस त्सिपरस ने अपने शीर्ष अधिकारियों को ब्रसेल्स भेजा है.

आईएस से संघर्ष

इमेज कॉपीरइट AFP

कुर्द बल सीरिया की सीमा चौकी तल अबयाद को इस्लामिक स्टेट के क़ब्ज़े से छुड़ाने के लिए आगे बढ़ रहे हैं. तुर्की की सीमा से सटे इस क़स्बे पर इस्लामिक स्टेट का क़ब्ज़ा है. इस्लामिक स्टेट के लड़ाकों से बचकर तुर्की भागने की कोशिश कर रहे सैंकड़ों लोगों को तुर्की के सैन्यबलों को सीमा पार करने से रोक रहे हैं.

हांगकांग में फिर प्रदर्शन

इमेज कॉपीरइट BBC Chinese

हांगकांग में लोकतंत्र समर्थक हज़ारों प्रदर्शनकारी आज फिर सड़कों पर उतर सकते हैं. हांगकांग में राजनीतिक सुधारों पर जनमतसंग्रह होने वाला है और इसे लेकर शहर में मत विभाजित है और व्यापक प्रदर्शन हो चुके हैं.

अफ़्रीकी संघ का शिखर सम्मेलन

दक्षिण अफ़्रीका के जोहानसबर्ग में अफ़्रीकी संघ का शिखर सम्मेलन जारी है. बुरूंडी में जारी राजनीतिक तनाव और अफ़्रीकी प्रवासियों का संकट चर्चा के अहम विषय हैं.

कट्टर बौद्धों का प्रदर्शन

इमेज कॉपीरइट AFP

म्यांमार की राजधानी यैंगून में बौद्ध कट्टरपंथी बंगाल की खाड़ी में नौकाओं पर सवार होकर भाग रहे रोहिंग्या मुसलमानों की मदद के लिए हो रहे प्रयासों के ख़िलाफ़ प्रदर्शन करेंगे. ये अल्पसंख्यक प्रवासी रख़िन प्रांत से भाग रहे हैं.

लीबिया में बंधक संकट

इमेज कॉपीरइट Reuters

लीबिया की राजधानी त्रिपोली में बंधक बनाए गए ट्यूनीसिया दूतावास के दस कर्मचारियों को छुड़ाने के प्रयास जारी हैं. इन्हें लीबिया के एक मिलिशिया समूह ने बंधक बनाया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)