आईएस का 17 वर्षीय 'आत्मघाती हमलावर'

  • 15 जून 2015

ब्रिटेन के एक 17 साल के लड़के को चरमपंथी संगठन इस्लामी स्टेट का सबसे कम उम्र का आत्मघाती हमलावर बताया जा रहा है.

सोशल मीडिया पर आ रही रिपोर्टों के मुताबिक वेस्ट योर्कशयर निवासी तलहा असमल ने तीन और आईएस हमलावरों के साथ इराक में बैजी की तेल रिफाइनरी पर हमला किया.

सोशल मीडिया की रिपोर्ट में कहा गया है कि असमल ने अबू यूसुफ़ अल ब्रितानी नाम से हमले में हिस्सा लिया.

उधर तलहा असमल के परिवार वाले गहरे सदमे में हैं. परिवार के अनुसार, "तलहा बहुत प्यारा, नेक और दूसरों का ख्याल रखने वाला बच्चा था. उसे खेल-कूद का ख़ासा शौक था और स्कूल में पढ़ाई भी ठीक ही कर रहा था. "

परिवार के मुताबिक, "तलहा का किसी से न वैर था और न दुश्मनी थी. उसने कभी हिंसक होने या कट्टरपंथी विचार रखने का कोई संकेत नहीं दिया. ऐसा प्रतीत होता है कि उसके भोलेपन का कुछ अज्ञात लोगों ने फ़ायदा उठाकर इंटरनेट की आड़ में उसे निशाना बनाया, दोस्ती की और उसे जानबूझकर भ्रमित किया."

इमेज कॉपीरइट PA

असमल मार्च में इस्लामिक स्टेट में शामिल होने के लिए, एक दोस्त हसन मुंशी के साथ, ब्रिटेन से सीरिया चला गया था.

मुंशी के भाई हम्माद मुंशी को साल 2006 में आतंकवाद अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया गया था.

700 ब्रितानी आईएस से जुड़ने गए

बीबीसी के टॉम साइमंड्स के अनुसार, "ब्रिटेन की आतंकवाद विरोधी गतिविधियों में सबसे बड़ी चुनौती है उसके युवाओं का सीरिया-इराक़ के युद्ध क्षेत्र में जाना."

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

वरिष्ठ अधिकारियों का अनुमान है कि इस्लामिक स्टेट से जुड़ने के मकसद से अब तक 700 से अधिक ब्रितानी नागरिक देश छोड़कर जा चुके हैं.

उनमें से आधे नागरिक ब्रिटेन में वापस आ गए जबकि संकेत मिले हैं कि 30 से 50 तक अब भी वहाँ हो सकते हैं.

गृह मंत्रालय के मुताबिक सीरिया और इराक जाने के खतरे को देखते हुए साल 2013 और 2014 में ब्रिटेन ने 30 पासपोर्ट या तो रद्द किए हैं या फिर देने से मना कर दिया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार