देखते रह जाएँगे ब्राज़ील का रेत का समंदर

  • 23 जून 2015
इमेज कॉपीरइट George Steinmetz National Geographic Stock

पृथ्वी की प्रकृतिक सुंदरता के बेहतरीन नमूने देखने हैं तो ब्राज़ील के उत्तर-पूर्वी समुद्रीतट पर जाएँ.

वहाँ 1550 वर्ग किलोमीटर में फैले लेंसोइस मटाहेंसिस नेशनल पार्क में हर साल 60 हज़ार से ज़्यादा पर्यटक देश के सबसे बड़े समुद्रतटीय रेतीले इलाके की ख़ूबसूरती को देखने आते हैं.

उस इलाके की हवाएँ और समुद्रतट की लहरें अद्भुत समां बांधती हैं. समुद्री लहरें 40 मीटर की ऊंचाई तक उठती हैं.

वहाँ भारी बारिश से रेतीले मैदान के बीचोंबीच कहीं खारे तो कहीं साफ़ पानी की खाड़ी बन जाती है.

इमेज कॉपीरइट George Steinmetz National Geographic Stock

रेतीले मैदान में साफ पानी की झील 90 मीटर तक लंबी और तीन मीटर तक गहरी हो सकती है.

यहां जनवरी से जून के बीच काफी बारिश होती है और उसी दौरान ये खाड़ियां बन जाती हैं. इलाके से गुज़रने वाली नदियां कई बार बालू से भरे मैदान में रास्ता बना लेती हैं, ऐसे में खाड़ी नदियों से जुड़ जाती है.

इससे मछलियां एक जगह से दूसरी जगह तक आसानी से सफ़र कर लेती हैं. वुल्फ़फिश जैसी मछलियां सूखे के मौसम में दलदल में चली जाती हैं, जबकि बारिश होने पर बाहर नज़र आने लगती हैं.

इमेज कॉपीरइट George Steinmetz National Geographic Stock

सबसे ऊपर की तस्वीर में नज़र आ रही नीले रंग की खाड़ी पार्क का प्रमुख आकर्षण है. प्राकृतिक खाड़ी में डुबकी लगाने की चाहत से पर्यटक यहां पहुंचते हैं.

पार्क का लैंडस्केप हर साल बदल जाता है. जून में जब बारिश का महीना खत्म होता है, तब खाड़ी में मौजूद पानी वाष्प बनने लगता है.

एक महीने में करीब एक मीटर तक जल स्तर कम हो जाता है. जून से दिसंबर के बीच सूखे के मौसम से उत्तर से पूर्व की ओर बहने वाली हवा के चलते रेत 48 किलोमीटर तक फैल जाती है.

इमेज कॉपीरइट George Steinmetz National Geographic Stock

साफ पानी वाली खाड़ियों के इर्द गर्द हरी-भरी वनस्पतियां भी फैल जाती हैं. ऊपर तस्वीर में ऐसी ही दो खाड़ियों के बीच बन गई हरियाली का दृश्य नज़र आ रहा है.

इस हरे भरे इलाके में 90 लोगों का बसेरा है. क्यूमेडा दोस ब्रिटोस और बैक्सा ग्रैंड के मध्य में ये लोग झोपड़ियों में रहते हैं. रेत की तरह ही ये लोग मौसम के मुताबिक अपनी दिनचर्या बदल लेते हैं.

सूखे के मौसम में ये बकरियां पालते हैं, मवेशियों का मांस खाते हैं. बीन्स एवं काजू उगाते हैं, खाते हैं.

इमेज कॉपीरइट George Steinmetz National Geographic Stock

बारिश के आते ही जब खेती मुश्किल हो जाती है, तो स्थानीय लोग समुद्रतटीय इलाके में बने कैंपों में आ जाते हैं और मछली पर निर्भर हो जाते हैं. वे मछली पकड़ने के लिए मोटरबोट का भी इस्तेमाल करते हैं या फिर सर्फिंग के ज़रिए समुद्र तक पहुंचते हैं.

रात की बारिश के बाद इस रेतीले इलाके में रेत पर साइकिल भी चलाई जा सकती है. इस तस्वीर में एक मछुआरा साइकिल चलाते हुए पड़ोस के गांव तक जा रहा था. दिन में सूर्य की रोशनी के बाद रेतीले मैदान की ये तस्वीर बदल जाएगी.

अंग्रेज़ी में मूल लेख यहां पढ़ें, जो बीबीसी ट्रैवल पर उपलब्ध है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार