पीयूष जिंदल कैसे बने बॉबी जिंदल

इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव के लिए अपनी दावेदारी पेश करने वाले बॉबी जिंदल भारतीय मूल के अमरीकी हैं.

उनके जन्म का नाम पीयूष जिंदल है और वो हिंदू माता-पिता की संतान हैं.

लेकिन युवावस्था में ही धर्म परिवर्तन कर वो रोमन कैथोलिक हो गए जबकि उनके माता-पिता अब भी हिंदू ही हैं.

पेशे से इंजीनियर उनके पिता अमर जिंदल के अमरीका जाकर बसने के छह महीने बाद अमरीकी राज्य लुइज़ियाना के बैटन रोज शहर में 10 जून 1971 को बॉबी जिंदल का जन्म हुआ.

दिलचस्प बात ये है कि उन्होंने बचपन में ख़ुद अपने लिए 'बॉबी' नाम चुना, जो एक टीवी सीरिज 'द ब्रेडी बंच' के एक किरदार का नाम था.

जिंदल का कहना है कि वो हर रोज़ स्कूल से आने के बाद टीवी पर इस सिरीज़ को देखते और उसमें बॉबी का किरदार उन्हें बहुत पसंद आता था, इसलिए उन्होंने ख़ुद को बॉबी कहलवाना शुरू कर दिया.

हालांकि क़ानूनी तौर पर अब भी उनका नाम पीयूष ही है, लेकिन आम तौर पर उन्हें बॉबी जिंदल के नाम से जाना जाता है.

अमरीका में रहने वाले भारतीय मूल के कई लोग बॉबी जिंदल से इस बात पर भी नाराज़ रहते हैं कि वह अपने आपको भारतीय मूल का बताने से कतराते हैं.

पिछले दिनों जारी एक पेंटिंग में बॉबी जिंदल का रंग एकदम गोरा दिखाया गया था. इसको लेकर काफी विवाद हुआ था, इस पर उनकी पब्लिसिटी टीम ने कहा था कि इस पेंटिंग को उनके किसी प्रशंसक ने बनाकर दिया था.

इतिहास रचा

इमेज कॉपीरइट Reuters

बॉबी जिंदल 2004 में अमरीकी कांग्रेस के सदस्य बने. 1956 के बाद वो भारतीय मूल के पहले अमरीकी थे जो अमरीकी संसद में पहुंचे थे.

इसके बाद 2007 में उन्होंने लुइज़ियाना का गवर्नर बन कर इतिहास रचा. वो किसी अमरीकी राज्य का गवर्नर बनने वाले पहले भारतीय मूल के अमरीकी नागरिक थे.

साल 2009 में बतौर अमरीकी राष्ट्रपति कांग्रेस में बराक ओबामा के पहले भाषण का रिपब्लिकन पार्टी की तरफ से बॉबी जिंदल ने ही जबाव दिया.

बॉबी जिंदल 2011 में 64 फ़ीसदी वोटों के साथ दूसरी बार लुइज़ियाना के गवर्नर चुने गए. इस बार उन्हें पिछली बार से क़रीब 11 फ़ीसदी ज्यादा वोट मिले.

जीव विज्ञान और जन नीति यानी पब्लिक पॉलिसी में स्नातक बॉबी जिंदल के परिवार में पत्नी सुप्रिया और तीन बच्चे हैं.

कड़ा मुक़ाबला

इमेज कॉपीरइट Reuters

44 वर्षीय जिंदल के राष्ट्रपति चुनाव लड़ने की अटकलें कई बार मीडिया में लगाई जाती रही हैं, लेकिन बुधवार को उन्होंने ट्विटर के ज़रिए चुनावी मैदान में उतरने की घोषणा कर दी.

अब तक कुल 17 उम्मीदवार राष्ट्रपति पद के लिए अपनी दावेदारी पेश कर चुके हैं.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव के लिए कुल 17 लोगों ने दावेदारी पेश की है.

इनमें डेमोक्रेटिक पार्टी की तरफ़ से पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन समेत चार दावेदार हैं तो रिपब्लिकन पार्टी की तरफ से जिंदल समेत 13 उम्मीदवार अब तक राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी हासिल करने के लिए सामने आए हैं.

रिपब्लिकन पार्टी के दावेदारों में पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज बुश के भाई जेब बुश और अरबपति डोनाल्ड ट्रंप भी शामिल हैं.

अमरीकी में दो मुख्य पार्टियों डेमोक्रेटिक पार्टी और रिपब्लिकन पार्टी की तरफ़ से आधिकारिक तौर पर उम्मीदवारी पाने की प्रक्रिया ख़ासी लंबी और जटिल है.

विभिन्न राज्यों में प्राइमरी और कॉकस चुनावों से अकसर दो अहम पार्टियों के उम्मीदवार तय होते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार