आईएस ने '12 लोगों के सिर काटे'

  • 25 जून 2015
islamic state इमेज कॉपीरइट AP

चरमपंथी संगठन इस्लामिक स्टेट ने एक दर्जन लोगों के सिर काटने का एक वीडियो जारी किया है.

इस्लामिक स्टेट का कहना है कि ये लोग सीरिया में एक विरोधी इस्लामी चरमपंथी संगठन के सदस्य थे.

वीडियो में दिखाए गए सभी लोगों ने नारंगी रंग के कपड़े पहन रखे थे.

ज़्यादातर लोग शायद सऊदी अरब समर्थित जैश-अल-इस्लाम धड़े के सदस्य थे.

इस्लामिक स्टेट का कहना है कि इस संगठन ने आईएस के लड़ाकों पर हमले किए थे.

एक तीर दो शिकार

समाचार एजेंसी एएफ़पी के मुताबिक़ गुरुवार को जारी किए गए नए वीडियो के दो दिन पहले इस्लामी चरमपंथी संगठन ने 16 लोगों के क़त्ल का एक और वीडियो जारी किया था.

इसमें सभी लोगों को एक पिंजरे में क़ैद करके रखा गया था जिन्हें पानी में डुबोकर मारा गया था.

ताज़ा वीडियो में क़त्ल किए गए लोगों के सर के बाल और दाढ़ी मूंड दिए गए थे.

विश्लेषकों का कहना है कि ये हत्याएं सीरिया में जेहादी संगठनों के बीच संघर्ष को और बढ़ाएंगी.

लेकिन इन वीडियो से आईएस के दो मकसद पूरे होते हैं - पहला ये कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय का ध्यान उसकी तरफ़ जाता है, दूसरा वो नए लोगों को अपनी ओर आकर्षित करने में भी सफ़ल होता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए