ट्यूनीशिया: 80 मस्जिदों पर हफ़्ते भर में ताले

इमेज कॉपीरइट Reuters

ट्यूनीशिया में अधिकारियों का कहना है कि देश में 80 मस्जिदों को बंद कर दिया जाएगा जिन पर हिंसा भड़काने का आरोप है.

शुक्रवार को ट्यूनीशिया के पर्यटक शहर सूस में हुए चरमपंथी हमले में 39 लोग मारे गए जिनमें ज़्यादातर यूरोपीय पर्यटक थे.

हमले में एक हमलावर बंदूकधारी भी मारा गया है. उसकी पहचान सैफिद्दीन रेज़्गी के तौर पर हुई है जो छात्र था.

संविधान का उल्लंघन बर्दाश्त नहीं

इमेज कॉपीरइट AFP

ट्यूनीशिया के प्रधानमंत्री हबीब असीद ने कहा कि सरकारी नियंत्रण से बाहर सक्रिय इन मस्जिदों को एक हफ्ते के भीतर बंद कर दिया जाएगा.

प्रधानमंत्री असीद ने ये भी कहा कि जो दल या समूह संविधान के प्रावधानों के बाहर काम कर रहे हैं, उनके खिलाफ कारवाई की जाएगी.

इमेज कॉपीरइट AFP

इस कारवाई के तहत उन्हें चेतावनी दी जा सकती है या संबंधित संस्था को बंद भी किया जा सकता है.

ट्यूनिस में बीबीसी संवाददाता का कहना है कि काफ़ी पर्यटक ट्यूनीशिया से बाहर निकलने की कोशिश में हैं.

सरकार ने सेना के अतिरिक्त बल को भी बुला लिया है और हॉलीडे रिसॉर्ट्स के आसपास सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

इमेज कॉपीरइट AFP

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने भी लोगों से अपील की है कि वो इसलामी चरमपंथ का जुटकर सामना करें जो कई ब्रितानी युवाओं को आकर्षित कर रहा है.

ट्यूनीशिया में पर्यटन

इमेज कॉपीरइट Other

ट्यूनीशिया में पर्यटन एक महत्वपूर्ण उद्योग है.

देश के सकल घरेलू उत्पाद का 15.2 फीसदी हिस्सा पर्यटन से आता है और करीब 13.2 फीसदी नौकरियों के अवसर भी पर्यटन क्षेत्र से जुड़े हैं.

पिछले साल ही ट्यूनीशिया में आने वाले पर्यटकों की सख्या साठ लाख दस हज़ार थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार