बटरफ़्लाई वैली के 12 दिलकश नज़ारे

इमेज कॉपीरइट Getty

तुर्की के बेहद मशहूर और करीब 500 किलोमीटर की लंबाई में फैले लायकन वे पर स्थित है बटरफ़्लाई वैली.

लायकन वे दक्षिण तुर्की का समुद्रतटीय इलाका है. इसमें ही करीब 86,000 वर्ग मीटर के दायरे में फैली है बटरफ़्लाई वैली.

नाम से जाहिर है, यह तितलियों की घाटी है.

इमेज कॉपीरइट brad cohen

यहां करीब एक सौ प्रजाति की रंग-बिरंगी तितलियां पाई जाती हैं. इनमें नारंगी, काली और सफेद बाघ जैसे रंगों वाली तितलियां भी शामिल हैं.

(देखें- ब्राज़ीली रेत का समंदर)

इस वैली तक केवल पानी के रास्ते पहुंचा जा सकता है. हम जिस बोट से पहुंचे, उसने हमें सूर्यास्त से दो घंटे पहले वैली तक पहुंचा दिया.

संरक्षित इलाका

भूमध्य सागर में दूर डूबता हुआ सूर्य किसी लालमणि की तरह चमकता नजर आ रहा है. समुद्री तट पूरी तरह खाली था और तट पर लहरों का भी कोई शोर नहीं था.

इमेज कॉपीरइट brad cohen

बहरहाल, बटरफ़्लाई वैली में 350 मीटर की ऊंचाई से एक झरना भी गिरता है, जो बाद में एक शांत नदी का रूप ले लेता था.

इससे ही इलाके में लैवेंडर के फूल वाले पौधों और चेस्ट (नीले और सफेद फूल देने वाली यूरोपिय झाड़ी) को पानी मिलता है. यही झाड़ी तितलियों के प्राकृतिक निवास है.

(देखें- देखने लायक 6 ज्वालामुखी)

तुर्की की सरकार ने 1987 में इस वैली को संरक्षित इलाका घोषित कर दिया था ताकि तितलियों और स्थानीय वनस्पतियों को संरक्षित रखा जाए.

बटरफ़्लाई वैली से महज पांच किलोमीटर उत्तर में स्थित द्वीप है ओलूडेनिज़.

नष्ट हुआ एक द्वीप

इमेज कॉपीरइट brad cohen

यहां पहुंचने वाली पर्यटकों की भारी भीड़ ने इस द्वीप के प्राकृतिक संसाधनों को काफी नुकसान पहुंचाया.

ओलूडेनिज़ का मतलब नीली खाड़ी होता है. यह द्वीप कभी दुनिया से पूरी तरह कटा हुआ था लेकिन 1980 के दशक में यहां पर्यटकों का पहुंचना शुरू हुआ.

मौजूदा समय में पर्यटकों के चलते प्राकृतिक खूबसूरती के नष्ट होने का उदाहरण बन चुका है.

इमेज कॉपीरइट brad cohen

पूरा द्वीप नियोन की रंग बिरगी और अंग्रेजी रेस्टोरेंट से भरा हुआ नज़र आता है. समुद्री तटों पर समुद्री लुटेरों के जहाज़ और शराब से भरे क्रूज दिखते हैं.

इनके अलावा समुद्री तटों पर नशे में झूमते टूरिस्ट और पैरा-ग्लाइडिंग के चलते धुएं से भरा आसमान नज़र आता है.

स्थायी निर्माण नहीं

बटरफ़्लाई वैली के साथ ऐसा नहीं हुआ. पहले अनातोलिया टूरिज़्म डेवलपमेंट कोऑपरेटिव ने स्थानीय गांव वालों से ये घाटी 1981 में ख़रीदी और 1984 में इसे पर्यटन के लिए खोल दिया.

इमेज कॉपीरइट brad cohen

तीन साल के बाद तुर्की सरकार ने इसे राष्ट्रीय संरक्षित क्षेत्र घोषित कर दिया. इस फ़ैसले के साथ ही इलाके में स्थायी निर्माण गैर-कानूनी हो गया.

मौजूदा समय में यहां केवल टेंट और अस्थायी घर बनाने की इजाज़त है.

(देखें- रोंगटे खड़े कर देने वाले दुनिया के 6 एयरपोर्ट)

इसके अलावा यहां की प्राकृतिक वनस्पतियों का व्यवसायिक उत्पादन शुरू नहीं किया गया है.

इमेज कॉपीरइट Getty

जैतून, अनार, नींबू, संतरा, अखरोट, आड़ू, खुबानी, पॉम, ओलियंडर और लॉरेल जैसे फल यहां उगते हैं.

बहरहाल, प्राकृतिक तौर पर बेहद सुंदर इस द्वीप पर भी साल के आठ महीनों में अप्रैल और नवंबर के बीच में पर्यटकों का समूह पहुंचता है.

नीरव शांति के पल

जिनकी सुबह सूर्योदय के साथ शुरू होती, शाम में योग का अभ्यास करते हैं, देर शाम में संगीत सुनते हैं.

इमेज कॉपीरइट brad cohen

रात में वे लोग यहां ठहरते हैं जो तारों के नीचे सोना पसंद करते हों.

मैं इस वैली में चार दिन तक रुका. इस दौरान मुझे एक भी लैपटॉप या मोबाइल फ़ोन नजर नहीं आया.

इसकी एक वजह तो ये भी है कि यहां बिजली उपलब्ध नहीं है. बिजली केवल और केवल रात में खाने की सार्वजनिक जगह पर उपलब्ध होती है, हर किसी को यहीं खाना खाना होता है.

खाने पीने का इंतज़ाम

इमेज कॉपीरइट brad cohen

यहां खाने के लिए क्या-क्या उपलब्ध होता है. शाकाहारी तुर्की व्यंजन. जिसमें मक्खन, जैतून, नारियल, टमाटर इत्यादि शामिल होते हैं.

समुद्री तट के एक कोने पर पर्यटक पहाड़ों में अस्थायी बार बना लेते हैं और वहां बैठकर बीयर पीते रहते हैं.

सूर्य को डूबते हुए देखना और बीयर के घूंट भरना, इससे ज़्यादा सुकून कहीं नहीं मिल सकता.

(देखें- जहां पहुंचते हैं सबसे ज़्यादा पर्यटक)

इमेज कॉपीरइट brad cohen

दूसरे छोर पर ऐसा रेस्टोरेंट भी है जहां आपको मछली खाने को मिल सकती है. उससे सटे दुकान पर डाइविंग करने के लिए वेटसूट और एयर टैंक मिलते हैं.

वैसे यहां आने वाले लोग सीधी रस्सियों के सहारे ऊपर भी पहुंच सकते हैं. जहां से घाटी के नीचे का दिलकश नज़ारा दिखाई देता है.

समय का ठहरना

इमेज कॉपीरइट brad cohen

कुछ लोग बटरफ़्लाई वैली हर साल आते हैं तो कुछ लोग यहां एक बार आने की कोशिश जरूर करते हैं.

यहां आने के बाद आपके मिनट यूं ही बैठे बैठे घंटों में और घंटे दिन में तब्दील होने लगते हैं.

इमेज कॉपीरइट brad cohen

आप दुनिया के किसी कोने में रह रहे हों लेकिन मौजूदा समय में ऐसी कोई घाटी है, इस पर आपको एक झटके से यकीन नहीं होगा.

अंग्रेज़ी में मूल लेख यहां पढ़ें, जो बीबीसी ट्रैवल पर उपलब्ध है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार